चाय की चुस्कियों के साथ रामायण और महाभारत का ज्ञान लेना चाहते हैं तो इस रेस्टोरेंट में पूरी हो सकती है इच्छा

अहमदाबाद में एक ऐसी चाय की दुकान भी है जहां चाय के साथ-साथ हिन्दू धर्म के लिए जागरुकता का सन्देश भी मिलता है.

चाय की चुस्कियों के साथ रामायण और महाभारत का ज्ञान लेना चाहते हैं तो इस रेस्टोरेंट में पूरी हो सकती है इच्छा
चाय की चुस्कियों के साथ मिल रहा धर्म का ज्ञान

गुजरात: अहमदाबाद महानगर अपनी अलग पहचान के लिए जाना जाता है. यहां की कई जगहें बहुत प्रसिद्ध हैं. यहां एक ऐसी चाय की दुकान भी है जहां चाय के साथ-साथ हिन्दू धर्म के लिए जागरुकता का सन्देश भी मिलता है. अहमदाबाद के सरसपुर के हरिभाई गोदा चौक के पास अनोखा महावीर रेस्टोरेंट है. महावीर रेस्टोरेंट में आज भी, सस्ती, कड़क और मीठी चाय पीने के लिए ग्राहक उमड़ रहे हैं. इस चाय की दुकान में पारंपरिक धर्म और संस्कृति के ज्ञान का संदेश चाय की चुस्कियों के साथ मुफ्त में दिया जाता है. 

चाय की दुकान की दीवार पर रामचरित मानस की चौपाई लिखी हुई हैं. सुंदरकांड की चौपाई को दुकान के मालिक धर्मेंद्र तिवारी ने रंग-बिरंगी चॉक से लिखा है. कहा जाता है कि सुंदरकांड का पाठ करने या सुनने मात्र से ही सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं. यह बात आज भी भगवान राम के जन्मस्थान के रूप में सत्य और आस्था का केंद्र है. 

इस चाय की दुकान में आज भी हर रोज शाम को 7 से रात के 12 बजे तक TV पर पुराने जमाने की रामायण, महाभारत, कृष्णा, जय हनुमान, शिव पुराण, विष्णु पुराण जैसे सीरियल दिखाए जाते हैं. चाय की चुस्की और उसके साथ सनातन धर्म और संस्कृति का ज्ञान देते दुकान मालिक धमेंद्र तिवारी द्वारा लक्ष्य रखा गया है कि लोग यहां से अच्छा ज्ञान लेकर जाएं और फिर भले ही उनकी चाय पी जाए या ना पी जाए.

ये भी देखें-

आज के आधुनिक युग में, चाय की चुस्की और पारंपरिक धर्म और संस्कृति का ज्ञान प्राप्त करना बहुत मुश्किल है. महानगर में एक बड़ी चाय और कॉफी की दुकान है, लेकिन आपको सनातन धर्म और संस्कृति का कोई ज्ञान नहीं मिलेगा. मिलता है तो सिर्फ चाय और कॉफी. अतीत में, कई दुकानें और होटल थे जहां सनातन धर्म और संस्कृति का ज्ञान दिया जाता था लेकिन अब इस ज्ञान को सरसपुर में स्थित एकमात्र महावीर रेस्तरां में चाय की चुस्की के साथ ही पाया जा सकता है.