चेन्‍नई के कॉलेज में राहुल गांधी ने किया था कार्यक्रम, अब दिए गए जांच के आदेश

डायरेक्‍टोरेट ऑफ कोलिजियेट एजुकेशन ने रीजनल ज्‍वाइंट डायरेक्‍टर को नोटिस जारी कर कार्यक्रम को लेकर जवाब मांगा है.

चेन्‍नई के कॉलेज में राहुल गांधी ने किया था कार्यक्रम, अब दिए गए जांच के आदेश
राहुल गांधी ने 13 मार्च को किया था कार्यक्रम. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली (सिद्धार्थ एमपी) : कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के कारण चेन्‍नई का स्‍टेला मैरिस कॉलेज मुसीबत में पड़ गया है. 13 मार्च को कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने यहां एक कार्यक्रम के दौरा छात्र-छात्राओं को संबोधित किया था. अब डायरेक्‍टोरेट ऑफ कोलिजियेट एजुकेशन (डीसीई) ने रीजनल ज्‍वाइंट डायरेक्‍टर को नोटिस जारी किया है. साथ ही यह भी कहा गया है कि इस मामले की जांच कर रिपोर्ट जल्‍द सौंपी जाए. डीसीई की ओर से जारी पत्र में पूछा गया है कि जब देश में आचार संहिता लगी हुई है तो आखिर इस समय किसी नेता द्वारा कॉलेज कैंपस को कार्यक्रम के लिए कैसे इस्‍तेमाल किया गया है.

 

बता दें कि कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने 13 मार्च को चेन्‍नई के स्‍टेला मैरिस कॉलेज में छात्र-छात्राओं से संवाद किया था. इस दौरान उन्‍होंने कश्मीर मसले पर बोलते हुए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पर विवादित टिप्पणी की थी. राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि अटल बिहारी वाजपेयी की गलत नीतियों के चलते ही जम्मू-कश्मीर में हालात बिगड़े. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस हमेशा जम्मू-कश्मीर के हालात सुधारने की कोशिश करती रही, लेकिन वाजेपयी की गलत नीतियों के चलते आज वहां हालात बिगड़े हैं.

बता दें कि चुनाव आयोग ने 10 मार्च को लोकसभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया था. 17वीं लोकसभा का चुनाव सात चरणों में होना है. ये चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई के बीच होंगे. सातों चरण के मतदान के बाद 23 मई को मतगणना होगी. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया था कि आगामी लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान की अधिसूचना 18 मार्च को जारी की जाएगी.  अरोड़ा ने बताया था कि आम चुनाव का कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही देश में चुनाव आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है.