close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्रः टिकट न मिलने से थे नाराज स्वास्थ्य मंत्री दीपक सावंत ने दिया इस्तीफा

शिवसेना ने उन्हें दोबारा विधान परिषद नहीं भेजा, जिसके चलते दीपक सावंत ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

महाराष्ट्रः टिकट न मिलने से थे नाराज स्वास्थ्य मंत्री दीपक सावंत ने दिया इस्तीफा
स्वाथ्य मंत्री दीपक सावंत ने पद से दिया इस्तीफा (फोटो साभारः twitter/@drdeepaksawant)

मुंबईः महाराष्ट्र सरकार में स्वाथ्य मंत्री दीपक सावंत ने सोमवार सुबह अपने पद से इस्तिफा दे दिया है. शिवसेना के कोटे से मंत्री दीपक सावंत ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. बता दें दीपक सावंत महाराष्ट्र विधान परिषद के सदस्य थे और उनका परिषद के सदस्य का समय पूरा हो गया था. इसके साथ ही दीपक सावंत को किसी सरकारी पद पर बने रहने के लिए 6 महीने का अंदर किसी सदन का सदस्य बनना था, लेकिन शिवसेना ने उन्हें दोबारा विधान परिषद नहीं भेजा, जिसके चलते दीपक सावंत ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

रोजगार के मुद्दे पर शिवसेना ने PM मोदी को घेरा, कहा- 'आपने नौकरियां खत्म कर दीं'

कार्यकाल होने वाला था खत्म
बताया जा रहा है कि उनको शिवसेना की तरफ से पहले ही बता दिया गया था कि कार्यकाल खत्म होने के बाद वह इस्तीफा दे दें. क्योंकि पार्टी उन्हें किसी सदन का सदस्य बनाने की तैयारी में नही है. जिसके चलते दीपक सांवत ने इस्तीफा दे दिया है. बता दें महाराष्ट्र में विधान परिषद में 78 सदस्यों में से 31 का चयन राज्य विधानसभा करती है, 21 का चयन अधिकारी और 12 राज्यपाल द्वारा मनोनीत किए जाते हैं, जबकि 7-7 सदस्यों का निर्वाचन उनकी शिक्षा और शिक्षक सीटों द्वारा किया जाता है. 

संजय रावत: भगवान राम की सेवा के लिए SC को राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाना चाहिए

कृषि मंत्री का पद भी खाली
वहीं सावंत के इस्तीफे के बारे में बताते हुए युवा सेना के प्रमुख और उद्धव ठाकरे के बेटे ने बताया कि 'दीपक सावंत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है और वह अब से पार्टी के लिए काम करेंगे.' बता दें दीपक सावंत के इस्तीफे के बाद खाली हुए पद पर किसे मंत्री बनाया जाए इस पर शिवसेना ने चर्चा शुरू कर दी है. वहीं महाराष्ट्र में भाजपा कोटे से कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर के निधन के बाद कृषि मंत्री का पद भी खाली हो गया है. जिसके बाद महाराष्ट्र में दो मंत्री पद खाली हैं. अब भाजपा और शिवसेना इस सोच-विचार में लगी है कि इन रिक्त पदों की जिम्मेदारी किसे सौंपी जाए.