close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान की जेलों में बंद लोगों के लिए मुंबई पुलिस बनेगी 'बजरंगी भाईजान'!

गौरतलब है कि पाकिस्तान की अलग-अलग जेलों में ऐसे 32 नागरिक हैं जो मानसिक तौर पर असंतुलित है और भारत सरकार उनकी नागरिकता को लेकर तफ्तीश कर रही है

पाकिस्तान की जेलों में बंद लोगों के लिए मुंबई पुलिस बनेगी 'बजरंगी भाईजान'!

नई दिल्‍ली/मुंबई : पाकिस्तान की अलग-अलग जेलों में कैद 32 नागरिक मानसिक तौर पर असंतुलित है, जिन्हें अपना पता और परिवार के बारे में भी कोई जानकारी याद नहीं. इनमें से एक महिला ने काउंसलर एक्सेस के दौरान खुद का नाम गुलो जान बताया जो कथित तौर पर मुंबई की रहने वाली है. ऐसे में मुंबई पुलिस के सामने यह सबसे बड़ी चुनौती है कि वह इस महिला की शिनाख्त कर शहर में इसके परिवार वालों को खोज निकाले.

पुलिस के सामने समस्या यह भी है कि इस महिला ने अपने पति का नाम जालिंधर बताया है और साथ यह भी बताया है कि वह मुंबई में जालिंधर इलाके की रहने वाली है, जबकि मुंबई शहर में इस नाम का कोई  इलाका ही नहीं है. जानकारी के नाम पर मुंबई पुलिस के पास इसकी सिर्फ एक तस्वीर, और महज इतनी जानकारी कि परिवार में चार बहन, तीन भाई, दो बेटे, दो बेटियां, पिता का नाम राजकुमार और मां का नाम यास्मिन. इस बिनाह पर मुंबई जैसे शहर में इस महिला के परिवार वालों को खोज निकालना यह चुनौती मुंबई पुलिस के लिए भूसे में सुई तलाशने से कम नहीं.

मुंबई पुलिस प्रवक्ता डीसीपी मंजूनाथ सिंगे ने कहा कि, "गुलो जान नाम की इस महिला के बारे में हमारे पास बहुत कम जानकारी है, बावजूद इसके हम इस महिला के परिवार वालों को तलाशने की पूरी कोशिश कर रहे हैं."

गौरतलब है कि पाकिस्तान की अलग-अलग जेलों में ऐसे 32 नागरिक हैं जो मानसिक तौर पर असंतुलित है और भारत सरकार उनकी नागरिकता को लेकर तफ्तीश कर रही है. बहरहाल मुंबई पुलिस ने इस महिला की तलाश में शहर के सभी 94 पुलिस थानों को इत्तला कर दिया है. शहर में गुमशुदा महिलाओं की लिस्ट में इस महिला से मिलती-जुलती जानकारी को खंगाला जा रहा है.

अगर मुंबई पुलिस इस महिला को उसके परिवारवालों से मिला पाई तो वाकई में मुंबई पुलिस उनके लिए किसी बजरंगी भाईजान से कम ना होगी.