close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल में ट्रेड यूनियन की हड़ताल के दौरान स्कूल बस पर पथराव

उत्तर 24 परगना जिले में बारासात के चंपाडाली इलाके में एक स्कूल बस पर पथराव किया गया और हड़ताल समर्थकों ने एक सरकारी बस में भी तोड़फोड़ की. 

पश्चिम बंगाल में ट्रेड यूनियन की हड़ताल के दौरान स्कूल बस पर पथराव
पश्चिम वर्द्धमान जिले के जमुरिया में प्रदर्शनकारियों ने एक बस में तोड़फोड़ की (फाइल फोटो)

कोलकाता: केंद्र सरकार की कथित "जनविरोधी" नीतियों के खिलाफ केंद्रीय मजदूर संघों द्वारा आहूत 48 घंटे की देशव्यापी हड़ताल के दौरान मंगलवार को पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में उपद्रव की छिटपुट घटनाएं हुईं. उत्तर 24 परगना जिले में बारासात के चंपाडाली इलाके में एक स्कूल बस पर पथराव किया गया और हड़ताल समर्थकों ने एक सरकारी बस में भी तोड़फोड़ की. पश्चिम वर्द्धमान जिले के जमुरिया में प्रदर्शनकारियों ने एक बस में तोड़फोड़ की.

वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे के खिलाफ व्यापारियों का संगठन करेगा आंदोलन

राज्य के कुछ इलाकों में पुलिस और हड़ताल समर्थकों के बीच हाथापाई भी हुई. दक्षिण कोलकाता के जादवपुर इलाके में वरिष्ठ माकपा नेता सुजान चक्रवर्ती के साथ कई अन्य हड़ताल समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में लिया.प्रदर्शनकारी ट्रेनों को रोकने के लिए कुछ स्थानों पर पटरियों पर बैठ गए और सड़कों पर टायर जलाए. माकपा सहित कई राजनीतिक दलों के नेता हड़ताल के समर्थन में सड़कों पर उतर आए. राज्य में तृणमूल कांग्रेस की सरकार ने हड़ताल का विरोध किया है.

नेताई गांव में अंधाधुन गोलीबारी का शिकार हुए लोगों को ममता बनर्जी ने किया याद

बता दें इससे पहले सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दावा कर चुकी हैं कि ट्रेड यूनियन की बुलाई हड़ताल का राज्य पर कोई असर नहीं होगा. बता दें पश्चिम बंगाल में पत्रकारों से बात करते हुए ममता बनर्जी ने कहा था कि 'मैं इस पर एक शब्द भी नहीं बोलना चाहती हूं. हमने किसी भी तरह के बंद को समर्थन नहीं देने का फैसला लिया है. बहुत हो गया अब कोई बंद नहीं होगा.'