राजस्थान भूल गए क्या? छात्रों के नाम पर सिर्फ राजनीति चमका रहे राहुल.. अब BJP ने किया पलटवार
Advertisement
trendingNow12300957

राजस्थान भूल गए क्या? छात्रों के नाम पर सिर्फ राजनीति चमका रहे राहुल.. अब BJP ने किया पलटवार

Paper Leak News: बीजेपी ने तब मोर्चा सम्भाला जब राहुल गांधी ने गुरुवार को बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके केंद्र सरकार को घेरा और तीखा हमला बोलते हुए पूछा कि इसके लिए जिम्मेदार कौन है. उन्होंने यह भी लगा दिया था कि शिक्षण संस्थाओं पर बीजेपी का कब्जा है.

राजस्थान भूल गए क्या? छात्रों के नाम पर सिर्फ राजनीति चमका रहे राहुल.. अब BJP ने किया पलटवार

BJP Targets Rahul Gandhi: एनटीए और पेपर लीक पर मचे बवाल के बीच राहुल गांधी ने सरकार को घेरा, कई गंभीर आरोप लगाए. अब बीजेपी ने पलटवार करते हुए मोर्चा संभाल लिया है. बीजेपी ने राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस का जवाब प्रेस कॉन्फ्रेंस से ही दिया है. बीजेपी ने अपने दो तेज तर्रार प्रवक्ताओं सुधांशु त्रिवेदी और शहजाद पूनावाला को मोर्चे में उतार दिया है और सुधांशु त्रिवेदी ने ना सिर्फ चुन चुनकर जवाब दिए बल्कि राहुल से कई तीखे सवाल भी पूछ डाले हैं. उन्होंने कहा कि राहुल जी राजस्थान भूल गए क्या जहां लोक सेवा आयोग के पेपर ही लीक कर दिए गए थे.

असल में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि सरकार नीट परीक्षा पर पूरी तरह सतर्क और संवेदनशील है. सरकार प्रतिबद्ध है, और लाखों लोगों के साथ कोई अन्याय नहीं होने देगी. जो भी इसके लिए जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

याद दिलाया राजस्थान का मामला.. 

इसके बाद उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को लाखों छात्रों के भविष्य से कोई लेना-देना नहीं है, वह सिर्फ इस विषय पर अपनी राजनीति चमकाना चाहते हैं. सुधांशु ने यह भी कहा कि राजस्थान में पेपर लीक पर हुआ था लेकिन राहुल गांधी ने इस पर एक शब्द नहीं बोला. असल में सुधांशु त्रिवेदी राजस्थान का जिक्र इसलिए कर रहे थे क्योंकि तब वहां के राज्य सेवा आयोग की एक भर्ती में जमकर बवाल हुआ था और एक ही परिवार के कई सदस्यों का चयन हो गया था. 

राहुल ने क्या आरोप लगाए थे?

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूजीसी-नेट और नीट-यूजी की परीक्षाओं में कथित पेपर लीक के मुद्दे को लेकर सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पेपर लीक को रोक नहीं पा रहे या फिर रोकना नहीं चाहते. उन्होंने यह दावा भी किया कि शिक्षण संस्थाओं पर भारतीय जनता पार्टी और उसके संगठन से जुड़े लोगों ने कब्जा कर लिया है और जब तक इस स्थिति को बदला नहीं जाता तब तक पेपर लीक होना बंद नहीं होंगे.

मामले को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने संवाददाताओं से कहा कि विपक्ष संसद के आगामी सत्र में इस मुद्दे को उठाएगा. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कहा जा रहा था कि नरेन्द्र मोदी जी रूस और यूक्रेन के बीच लड़ाई रोक दी थी... लेकिन हिंदुस्तान में पेपर लीक को रोक नहीं पा रहे हैं या रोकना नहीं चाहते.

Trending news