close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सर्वदलीय बैठक में केंद्र सरकार ने बताया, ये मिलिट्री नहीं, एंटी-टेरर ऑपरेशन था

भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के बदला लेते हुए मंगलवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया. 

सर्वदलीय बैठक में केंद्र सरकार ने बताया, ये मिलिट्री नहीं, एंटी-टेरर ऑपरेशन था
एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. (फोटो सौजन्य: ANI)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की ओऱ से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम भारतीय सेना के प्रयासों की सराहना करते हैं. आतंकवाद के खात्मे के लिए उन्हें हमेशा ही हमारा समर्थन है. उन्होंने कहा कि एक और अच्छी बात यह है कि यह एक ऐसा ऑपरेशन था जिसमें विशेष रूप से आतंकवादियों और आतंकी शिविरों को निशाना बनाया गया था. बता दें कि सरकार ने मंगलवार को एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इस बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान में जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविरों के खिलाफ भारतीय वायुसेना द्वारा किये गए हवाई हमले के बारे में जानकारी दी. 

सर्वदलीय बैठक में सरकार ने बताया, ''ये मिलिट्री नहीं, एंटी-टेरर ऑपरेशन था.'' बैठक के बाद विपक्ष ने कहा कि यह कार्रवाई जरूरी थी. सभी लोग इस मामले में एकजुट हैं. विपक्ष ने भारतीय वायुसेना को बधाई दी. बता दें कि भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के बदला लेते हुए मंगलवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया. 

आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के 13 दिनों बाद भारत ने मंगलवार तड़के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया. इसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी व उनके ट्रेनर मारे गए हैं. 

सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा के बम गिराए. भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 200 से 300 आतंकी मारे गए और कई आतंकी ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हो गए हैं.

भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की. भारतीय वायुसेना की सीमापार की गई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने भी स्वीकार कर लिया है. हालांकि पाकिस्तान की ओर से कहा जा रहा है कि भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई से कोई नुकसान नहीं हुआ है.