close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

थावरचंद गहलोत होंगे राज्यसभा में सदन के नेता, लेंगे अरुण जेटली की जगह

मध्यप्रदेश से आने वाले गहलोत के पास चार दशक लंबा संसदीय अनुभव है. वह मध्य प्रदेश विधानसभा के सदस्य के साथ-साथ लोकसभा और राज्यसभा दोनों के सदस्य रहे हैं.

थावरचंद गहलोत होंगे राज्यसभा में सदन के नेता, लेंगे अरुण जेटली की जगह
गहलोत राज्य सरकार में 1990 से 1992 तक मंत्री रहे. वे तीन बार लोकसभा सदस्य रहे.

नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत को मंगलवार को राज्यसभा में सदन का नेता नियुक्त किया गया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पिछली सरकार में भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली इस पद पर थे. फिलहाल जेटली बीमार चल रहे हैं और स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री गहलोत अनुभवी सांसद और भाजपा के वरिष्ठ दलित नेता हैं. राज्यसभा में सदन के नेता की नियुक्ति केन्द्र में सत्तारूढ़ पार्टी करती है.

मध्यप्रदेश से आने वाले गहलोत के पास चार दशक लंबा संसदीय अनुभव है. वह मध्य प्रदेश विधानसभा के सदस्य के साथ-साथ लोकसभा और राज्यसभा दोनों के सदस्य रहे हैं. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में दलित वर्ग का चेहरा थावरचंद गहलोत एक बार फिर केंद्रीय मंत्री बनाए गए हैं. इससे पहले गहलोत राज्य सरकार में 1990 से 1992 तक मंत्री रहे. वे तीन बार लोकसभा सदस्य रहे. इसके अलावा गहलोत दूसरी बार राज्यसभा के सदस्य हैं. पिछली सरकार मे गहलोत सामाजिक न्याय मंत्री रहे, इस बार फिर मंत्री बनाए गए हैं.