close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी भारत में ले रहे थे शपथ, जश्न में ऐसा रोशन हुआ UAE, देखें VIDEO

भारत और यूएई के बीच घनिष्ठ संबंधों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी को पिछले महीने यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने प्रतिष्ठित जायद पदक से सम्मानित किया था.

PM मोदी भारत में ले रहे थे शपथ, जश्न में ऐसा रोशन हुआ UAE, देखें VIDEO
एडनॉक टावर अबू धाबी की सबसे ऊंची इमारतों में से एक है.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) दूसरी बार शपथ ले चुके हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के 57 सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस वक्‍त राष्‍ट्रपति भवन के प्रांगण में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए पद एवं गोपनीयता की शपथ ले रहे थे, उस समय भारत के साथ अपनी दोस्ती का जश्न मनाते हुए यूएई (United Arab Emirates) की राजधानी अबु धाबी के आइकॉनिक एडनॉक ग्रुप का टावर भारत और अबु धाबी के झंडे में रंगा दिखा. 

संयुक्‍त अरब अमीरात में यूएई के शेख और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दोस्‍ती की एक तस्‍वीर दिखाई दी. भारत के साथ अपनी दोस्ती का जश्न मनाते हुए यूएई की राजधानी अबु धाबी के आइकॉनिक एडनॉक ग्रुप का टावर भारत और अबु धाबी के झंडे में रंगा दिखा. 65 मंजिला एडनॉक ग्रुप की शीशे की दीवारों पर न सिर्फ दोनों देशों का झंडा दिखाई दिया, बल्कि पीएम मोदी और यूएई के शेख मोहम्मद बिन जायद का पोटरेट भी दिखा.

 

 

यूएई में भारतीय राजदूत नवदीप सूरी ने कहा, 'यह सच्ची दोस्ती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जहां दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली, आइकॉनिक एडनॉक ग्रुप टॉवर भारत तथा यूएई के झंडों और हमारे पीएम और शेख मोहम्मद बिन जायद के पोटरेट से रोशन हो गया.'

लाइव टीवी देखें

भारत और यूएई के बीच घनिष्ठ संबंधों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी को पिछले महीने यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने प्रतिष्ठित जायद पदक से सम्मानित किया था. आपको बता दें कि एडनॉक टावर अबू धाबी की सबसे ऊंची इमारतों में से एक है. इस बिल्डिंग की ऊंचाई 342 मीटर है. ये 65 मंजिल बिल्डिंग है. यह दुनिया की 57वीं सबसे ऊंची इमारत है.