अपनी ही सरकार के खिलाफ बोले मंत्री, 'BJP से साधु-संत और राम मंदिर चाहने वाले दोनों नाराज'

गरीब सवर्णो के लिए जिस तरह से केंद्र सरकार ने पहल किया उसी तरह की पहल पिछड़े और दलित वर्ग के गरीबों के लिए भी करते हुए आरक्षण में बंटवारा किया जाना चाहिए.

अपनी ही सरकार के खिलाफ बोले मंत्री, 'BJP से साधु-संत और राम मंदिर चाहने वाले दोनों नाराज'
उन्होंने कहा कि जो लोग नाराज हैं और यही वजह है कि सरकार इन्हें खुश करने में परेशान है. (फाइल फोटो)

देवरिया: उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अपनी ही सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि बीजेपी से साधु-संत ही नहीं, राम मंदिर बनवाने के लिए जो लोग रात-दिन लगे हैं, वे सभी लोग नाराज हैं और यही वजह है कि सरकार इन्हें खुश करने में परेशान है.

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री प्रयागराज पहुंच कर मंत्रियों के साथ गंगा में डुबकी लगा रहे हैं. मंत्री ने कहा कि इससे बेहतर होता कि वह अयोध्या में राम मंदिर बनवा दें और उसमें सभी जातियों के पुजारी रखे जाने चाहिए. राजभर बुधवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा गरीब सवर्णो के लिए जिस तरह से केंद्र सरकार ने पहल किया उसी तरह की पहल पिछड़े और दलित वर्ग के गरीबों के लिए भी करते हुए आरक्षण में बंटवारा किया जाना चाहिए.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने प्रयागराज में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों द्वारा गंगा स्नान किये जाने पर तंज कसा था. उन्होंने कहा कि योगी सरकार अपने पाप धोने के लिए कुंभ में गंगा स्नान कर रही है.

उन्होंने दावा किया कि योगी आदित्यनाथ सरकार में सपा और बसपा सरकार की तुलना में चार गुना अधिक भ्रष्टाचार है. अक्सर अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी करने वाले राजभर ने कहा कि योगी सरकार के मंत्रिपरिषद सदस्य कुंभ में अपना पाप धोने के लिये गये थे. जनता से वादाखिलाफी भी पाप है. इसी को धोने का काम योगी सरकार के मंत्रियों ने किया है.