US-भारत 2+2 वार्ता: राजनाथ सिंह बोले, 'PAK द्वारा भारत विरोधी हिंसा को उकसाना शांति में मददगार नहीं'

भारत की तरफ से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रह हैं. 

US-भारत 2+2 वार्ता: राजनाथ सिंह बोले, 'PAK द्वारा भारत विरोधी हिंसा को उकसाना शांति में मददगार नहीं'

वाशिंगटन: भारत (India) और अमेरिका (US) के बीच दूसरी टू प्लस टू वार्ता शुरू में तीन समझौतों को अंतिम रूप दिया गया है. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने भारत और अमेरिकी मंत्रियों के बीच हुई टू प्लस टू वार्ता को सार्थक बताया है. बता दें भारत की तरफ से रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रह हैं. 

वार्ता के बाद अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एस्पर ने कहा कि हमने रक्षा तकनीक और ट्रेड इनिशिएटिव में तीन समझौतों को अंतिम रूप दिया है.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने वार्ता के बाद कहा, हमने अफगानिस्तान, पाकिस्तान, नेपाल, श्रीलंका और हिंद महासागर क्षेत्र के हालात पर चर्चा की. हमने हमने यह संदेश दिया कि पाकिस्तानी नेताओं द्वारा भारत विरोधी हिंसा को लेकर बयानबाजी और हिंसा को उकसाना शांति के लिए अनुकूल नहीं है. 

सीएए के मुद्दे पर क्या कहा अमेरिका ने?
अमेरिका विदेश मंत्री से जब यह पूछा गया कि क्या वह नागरिकता निर्धारण के लिए धर्म को आधार बनाने को सही मानते हैं, हम हमेशा ही अल्पसंख्यकों की रक्षा को लेकर संवेदनशील रहे हैं. हम भारतीय लोकतंत्र का सम्मान करते हैं क्योंकि वहां इस मुद्दे पर जोरदार बहस चल रही है. अमेरिका अपने सिद्धांतों को लेकर निरंतर अडिग है.  

उन्होंने कहा हमारी बातचीत में अफगानिस्तान, इंडो फेसेफिस, चीन, 5 जी और ईरान पर भी चर्चा हुई है. 

अफगानिस्तान के हालात पर बोलते हुए माइक फोम्पियो ने कहा कि अफगानिस्तान का भविष्य भारत और अमेरिका के लिए अहमियत रखता है. हम अफगानिस्तान में भारतीय सहयोग की प्रशंसा करते हैं. 

ये वीडियो भी देखें: