अलवर हत्या पर मंत्री ने कहा- 'हर स्थिति से निपटने के लिए नहीं है पर्याप्त फोर्स'

रविवार को यहां गोविंदगढ़ इलाके में एक पिक-अप गाड़ी मिली, जिसमें तीन गायें और तीन बछड़े थे. इनमें से एक गाय मरी हुई थी.

अलवर हत्या पर मंत्री ने कहा- 'हर स्थिति से निपटने के लिए नहीं है पर्याप्त फोर्स'
राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया (फाइल फोटो)

भरतपुर: अलवर एक बार से गौरक्षा के नाम पर हिंसा का शिकार हुआ है. रविवार को यहां गोविंदगढ़ इलाके में एक पिक-अप गाड़ी मिली, जिसमें तीन गायें और तीन बछड़े थे. इनमें से एक गाय मरी हुई थी. पिकअप से करीब 15 किलोमीटर दूर रेलवे लाइन पर एक व्यक्ति का शव मिला था. बताया गया कि यह शव पिकअप में सवार लोगों में से एक का है. इस घटना को लेकर पूरे अलवर में तनाव फैल गया. बता दें कि करीब सात महीने पहले तथाकथित गौरक्षकों ने गौ तस्करी के आरोप में पहलू खान की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. यह घटना पूरे देश की सुर्खी बनी थी. 

अब रविवार को हुए इस घटना को भी गौरक्षकों के आतंक से जोड़कर देखा जा रहा है. मृतक की पहचान 35 वर्षीय उमर के रूप में हुई है. पीड़ित परिवार के मुताबिक, तीन व्यक्ति अलवर से भरतपुर गांव में कुछ गायों को ले जा रहे थे. जब वे गोविंदगढ़ के पास पहुंचे, तो कुछ गौरक्षकों ने उन्हें घेर कर उनपर गोलीबारी कर दी. गोली लगने से उमर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल को हरियाणा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. 

गौरक्षा के बहाने हिंसा बर्दाश्त नहीं करेंगे- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अलवर पुलिस के अधिकारी अनिल बेनीवाल ने बताया कि उन्होंने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने छानबीन शुरू कर दी है. शव को पोस्टमार्टम के लिए जयपुर भेज दिया गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही पुलिस किसी नतीजे पर पहुंच सकेगी. 

अलवर पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश ने बताया कि पुलिस को रेलवे लाइन पर रविवार की सुबह एक शव मिला था. जिसे पहचान के लिए पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया था. बाद में उमर के परिजनों के शव की शिनाख्त की थी. उन्होंने बताया कि गौ तस्करी का भी एक मामला दर्ज किया गया है. 

उधर, इस मामले पर विपक्ष ने एकबार फिर सूबे की राजनीति को गरमा दिया है. विपक्षी दलों ने उमर की हत्या को लेकर राज्य सरकार पर कड़े प्रहार किए हैं. विपक्ष के हमले के बीच राज्य के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने विवादित बयान देकर विपक्ष को हमले का एक और मौका दे दिया है. गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि सरकार के पास इतनी मैनपावर नहीं है जिससे कि हर जगह, हर स्थिति से निपटा जाए. 

उन्होंने कहा कि इस मामले पर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा. पुलिस जांच रही है. संदेह के आधार पर एक आदमी को पकड़ा भी गया है. उन्होंने कहा कि यह मामला जल्द ही हल कर लिया जाएगा.