Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

VIDEO: ममता बनर्जी का बैडमिंटन खेलते हुए VIDEO आया सामने, फिट रहने के लिए रोज चलती हैं 20 किमी

ममता बनर्जी हर सप्ताह अलग-अलग जिलों में दो जनसभाएं करती हैं. अगर वह कोलकाता में रहती हैं तो, इन जनसभाओं की संख्या 10 से ज्यादा हो जाती है. 

VIDEO: ममता बनर्जी का बैडमिंटन खेलते हुए VIDEO आया सामने, फिट रहने के लिए रोज चलती हैं 20 किमी
सीएम ममता बनर्जी द्वारा बैडमिंटन खेलने का यह वीडियो गुरुवार का बताया जा रहा है.

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी अपनी फिटनेस को लेकर काफी जागरुक हैं. बनर्जी ने शुक्रवार को ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह बैंडमिंटन खेलती नजर आ रही हैं. इसके साथ उन्होंने लिखा है कि हम खेलों को पसंद करते हैं. बता दें कि ममता बनर्जी अपनी फिटनेस को बनाए रखने के लिए प्रतिदिन करीब 20 किमी पैदल चलती हैं. वहीं, फिटनेस के मामले में और लोगों से आगे रहने के लिए वह बैडमिंटन के खेल को भी प्राथमिकता देती हैं. 

 

 

पूरे राज्य में करती हैं जनसभाएं 
दरअसल, सीएम ममता बनर्जी द्वारा बैडमिंटन खेलने का यह वीडियो गुरुवार का बताया जा रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, राज्य में चुनावी दौरे पर निकलीं बनर्जी एक गांव बोलपुर पहुंची थीं. यहां उन्होंने बैडमिंटन कोर्ट में हाथ आजमाए. इस दौरान उन्होंने बताया कि खुद को फिट रखना ही उनका मंत्र है और इसके लिए वह लगातार प्रयास करती रहती हैं. बता दें कि ममता बनर्जी हर सप्ताह अलग-अलग जिलों में दो जनसभाएं करती हैं. अगर वह कोलकाता में रहती हैं तो, इन जनसभाओं की संख्या 10 से ज्यादा हो जाती है. 

हर ओर होती है सीएम बनर्जी के फिटनेस मंत्र की चर्चा
ममता के साथ ही उनकी पार्टी के कार्यकर्ता भी बनर्जी के फिटनेस मंत्र को अपना रहे हैं. इस पर टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन का कहना है कि एक स्वस्थ शरीर के अंदर ही तेज दिमाग रहता है और उनकी फिटनेस की चर्चा पश्चिम बंगाल के राजनीतिक गलियारों में बहुत आम सी बात है. उन्होंने कहा कि बहुत सारे राजनीतिक और प्रशासन संबंधी दबाव के बावजूद ममता बनर्जी का मानना है कि फिटनेस के कारण ही उन्हें लड़ने की ताकत मिलती है.