close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर विवाद

ये सवाल गृह मंत्रालय के एक नोटिस से उठा है. इस नोटिस में कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी नागरिकता के बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया है .

ZEE जानकारी: राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर विवाद

आज का एक बड़ा सवाल ये है कि जिस कांग्रेस पार्टी ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी, क्या आज उसी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष, एक ब्रिटिश नागरिक है ? ये सवाल गृह मंत्रालय के एक नोटिस से उठा है. इस नोटिस में कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी नागरिकता के बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया है .

बीजेपी से राज्य सभा के सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने भारत सरकार को एक पत्र के साथ कुछ दस्तावेज सौंपे थे . जिनमें ये दावा किया गया कि राहुल गांधी ने ब्रिटेन में कुछ कागज़ात में अपनी नागरिकता ब्रिटिश दिखाई है .

सुब्रमण्यन स्वामी की चिट्ठी और दस्तावेजों के आधार पर गृह मंत्रालय के Foreigners Division के द्वारा कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी को एक नोटिस भेजा गया है . 

इस नोटिस में राहुल गांधी को संबोधित करते हुए लिखा गया है कि Doctor सुब्रमण्यन स्वामी ने एक शिकायत भेजी है जिसके साथ कुछ दस्तावेज भी हैं . 

इन दस्तावेजों में Backops Limited नाम की एक कंपनी का ज़िक्र है . जो United Kingdom में वर्ष 2003 में Hampshire के एक पते पर Registered है . 

Backops Limited नामक इस कंपनी ने 10 अक्टूबर 2005 और 31 अक्टूबर 2006 को अपने Annual Returns File किए थे . 

इन Annual Returns में राहुल गांधी ने अपनी जन्मतिथि 19 जून 1970 लिखी है. और खुद को British नागरिक बताया है . 

इसके अलावा 17 फरवरी 2009 को जब इस कंपनी को Dissolve किया गया यानी बंद किया गया. तब भी कंपनी को खत्म करने के लिए दिए गए आवेदन में राहुल गांधी ने अपनी नागरिकता British लिखी है. 

हमारे पास Doctor सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा भारत सरकार को लिखी गई चिट्ठी और उनके द्वारा सौंपे गए दस्तावेज भी हैं . इन दस्तावेजों के मुताबिक राहुल गांधी, ब्रिटेन की Backops Limited नामक कंपनी के डायरेक्टर भी रहे और सेक्रेटरी भी . इस कंपनी के 65 प्रतिशत Share राहुल गांधी के पास थे . इन दस्तावेज़ों के मुताबिक राहुल गांधी ने अपना पता London का बताया था . अब सवाल ये है कि राहुल गांधी Lutyens वाले राहुल गांधी हैं या फिर London वाले राहुल गांधी हैं ?

कई देशों का संविधान दोहरी नागरिकता की इजाज़त देता है . लेकिन भारत का संविधान दोहरी नागरिकता को मंज़ूरी नहीं देता. संविधान का अनुच्छेद 9 किसी भी भारतीय नागरिक को विदेशी नागरिकता लेने से रोकता है. इसका मतलब ये है कि अगर आप स्वेच्छा से किसी और देश की नागरिकता लेते हैं तो आप भारतीय नगारिक नहीं माने जाएंगे . 

राहुल गांधी, कोई सामान्य नागरिक नहीं हैं, वो भारत की संसद के सदस्य हैं. इसलिए उन पर ये नियम और सख्ती से लागू होते हैं . 

राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी की तरफ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार भी हैं . इसीलिए पूरे देश को ये सच जानने का अधिकार है कि राहुल गांधी का नागरिकता क्या है ? राहुल गांधी भारतीय हैं या फिर ब्रिटिश ? 

((भारत का कोई भी नागरिक या सांसद अगर विदेशों में कोई कंपनी शुरू करना चाहता है तो उसे भारत के कानूनों के तहत भारत सरकार से अनुमति लेनी पड़ती है.
अब सवाल ये है कि क्या राहुल गांधी ने ब्रिटेन में कंपनी शुरू करने के लिए भारत सरकार से अनुमति ली है ? वर्ष 2003 में राहुल गांधी ने ये कंपनी बनाई थी. इसके बाद वर्ष 2004 में राहुल गांधी ने अमेठी से नामांकन पत्र दाखिल किया था . हमने इस नामांकन पत्र का अध्ययन किया है . इसमें भी राहुल गांधी ने इस कंपनी का कोई ज़िक्र नहीं किया है . 

राहुल गांधी, भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के प्रपौत्र हैं . वो भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पौत्र और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के पुत्र हैं . ऐसे में भारतीय नागरिक होना, राहुल गांधी के लिए सौभाग्य की बात है . लेकिन अगर ये दस्तावेज सही हैं तो राहुल गांधी को ये बताना चाहिए कि आखिर वो कौन सी मजबूरियां हैं जिनकी वजह से उन्होंने ब्रिटेन में खुद को ब्रिटिश नागरिक बताया .

इस विवाद को लेकर विपक्ष भारत सरकार के नोटिस की Timing पर सवाल खड़े कर रहा है . कांग्रेस पार्टी का सवाल है कि ये नोटिस लोकसभा चुनाव के दौरान ही क्यों भेजा गया ? इस पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जवाब दिया है कि ये सवाल सांसद सुब्रमण्यन स्वामी द्वारा उठाया गया है . इसलिए इस पर नोटिस भेजना एक सामान्य प्रक्रिया है . 

इस मामले पर बीजेपी और कांग्रेस पार्टी के बीच एक नया राजनीतिक संघर्ष शुरू हो चुका है . आज बीजेपी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है . बीजेपी ने आज राहुल गांधी को Man of Mystery कहा है .बीजेपी का दावा है कि ये दस्तावेज राहुल गांधी द्वारा सत्यापित किए गए है . क्योंकि कंपनी के डायरेक्टर के तौर पर खुद राहुल गांधी ने ही Annual Return File किया है . 

राजनीति में हर आरोप, अपने साथ एक असरदार जवाब देने का मौका लेकर आता है. राहुल गांधी के पास आज एक मौका है वो चाहें तो Social Media पर... या फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके, अपनी बात कह सकते हैं . 

लेकिन फिलहाल वो इस मामले पर चुप हैं . जबकि उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज राहुल गांधी का बचाव किया है . प्रियंका वाड्रा ने कहा है कि राहुल गांधी जन्म से भारतीय हैं . पूरे देश ने राहुल गांधी को इस देश में बड़ा होते हुए देखा है. हालांकि प्रियंका गांधी वाड्रा के स्पष्टीकरण के बाद भी, राहुल गांधी की नागरिकता का विवाद एक बड़ा मुद्दा बन चुका है .