close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: जापानी कंपनी ने अपने 121 रोबोटिक कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

जापान से आई इस ख़बर को देखकर ऐसा लगता है कि Robots भी बेरोजगार हो सकते हैं .

ZEE जानकारी: जापानी कंपनी ने अपने 121 रोबोटिक कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

अब आपको जापान लेकर चलते हैं जहां एक होटल चलाने वाली कंपनी ने अपने 121 Robotic कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है . आपने अक्सर ये सुना होगा कि Robots की वजह से इंसानों की नौकरी ख़तरे में पड़ने वाली है . लेकिन जापान से आई इस ख़बर को देखकर ऐसा लगता है कि Robots भी बेरोजगार हो सकते हैं . इन Robots को नौकरी से इसलिए हटाया गया है क्योंकि ये अपना काम ठीक से नहीं कर रहे थे . होटल में आने वाले लोगों को सुविधा देने के बजाए ये उनके लिए परेशानी पैदा कर रहे थे .

जापान के नागासाकी इलाके के इस होटल में 243 Robots काम पर रखे गये थे . इस होटल Reception पर बुकिंग से लेकर लोगों को खाना उपलब्ध कराने जैसे सारे काम... Robots ही करते हैं . इसके अलावा artificial intelligence वाले Robots से, Guests को नींद से जगाने, और होटल की सुविधाओं के बारे जानकारी देने जैसे काम भी करवाये जाते हैं . लेकिन पिछले कुछ समय से Guests की ये शिकायत थी कि ये Robots, नींद के दौरान खर्राटों की आवाज़ सुनकर एक्टिव हो जाते हैं और शोर मचाकर उनकी नींद ख़राब करते हैं . इसके अलावा होटल के रिसेप्शन की ज़िम्मेदारी संभाल रहे Robots को इसलिए हटाया गया है क्योंकि वो Guests सही जानकारी नहीं दे पा रहे थे . इससे ग्राहकों को असुविधा हो रही थी और होटल का नाम ख़राब हो रहा था . 

वर्ष 2015 में शुरू किए गये.. इस होटल को Robotic कर्मचारियों की वजह से Guinness World Records में शामिल किया गया था . इस कामयाबी को देखते हुए कंपनी ने कई और होटल शुरू करने फैसला किया . दुनिया भर से हज़ारों लोग इन Hotels में Robots को देखने आते हैं . यहां ठहरने का एक दिन का किराया 12 हज़ार से 20 हज़ार रूपये तक है . लेकिन आजकल इन Hotels की सबसे बडी ख़ासियत ही, इनकी सबसे बड़ी कमी बन गई है .

Robots को नौकरी से निकालने की ख़बरें देखकर, इंसानों को खुशी हो रही होगी. क्योंकि पिछले कुछ समय में Robots और Drones ने मिलकर अब तक दुनिया भर में हज़ारों लोगों की नौकरियां छीन ली हैं, Robots और Drones इंसानों के मुकाबले ज्यादा खतरा उठा सकते हैं, ज्यादा देर तक काम कर सकते हैं, बिना शिकायत के अपना काम निपटा सकते हैं और कंपनियों के लाखों करोड़ों रुपये की बचत कर सकते हैं. Robots को Weekly Off और छुट्टियों की ज़रूरत भी नहीं होती.

Deloitte और Oxford University की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2030 तक 35 प्रतिशत नौकरियां Automated हो जाएगी यानी ये ऐसी नौकरियां होंगी जिनमें इंसानों की जरूरत नहीं पड़ेगी 

पत्रकारों की नौकरी भी ख़तरे में है Automated Insights, Narrative science और Associated Press....जैसी कंपनियां Robots और Artificial Intelligence की मदद से खबरें लिख रही हैं 

ये कंपनियां wordsmith नामक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रही हैं, ये सॉफ्टवेयर 1 सेकेंड में 2 हज़ार खबरें या छोटे Articles लिख सकता है.

ये सब सुनकर आपको लग रहा होगा कि भविष्य में मशीनों के सामने इंसान की हैसियत बहुत कम रह जाएगी. लेकिन ऐसा नहीं है. क्योंकि आज भी इंसान के दिमाग का कोई विकल्प नहीं है और ये भी नहीं भूलना चाहिए कि इंसान ने ही अपनी क्षमताओं के दम पर मशीनों का निर्माण किया है.