पार्टी के लिए इस औरत ने लगवाएं नकली आई लैशेज, कई दिन तक दिखना हो गया बंद
X

पार्टी के लिए इस औरत ने लगवाएं नकली आई लैशेज, कई दिन तक दिखना हो गया बंद

पार्टी में जाने और खूबसूरत दिखने के लिए लड़कियां कई ब्यूटी और मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं. एक लड़की ने पार्टी में जाने से पहले आई लैशेज लगवाएं लेकिन उसके बाद जो हुआ वो बेहद चौंकाने वाला था.

पार्टी के लिए इस औरत ने लगवाएं नकली आई लैशेज, कई दिन तक दिखना हो गया बंद

नई दिल्ली : हर महिला खूबसूरत दिखना चाहती है. इसके लिए वो खूब जतन करती है. खूबसूरती में आंखें चार चांद लगा देती हैं. महिलाएं आंखों को खूबसूरत बनाने के लिए ना सिर्फ आंखों का मे‍कअप करती हैं बल्कि पलकों को आकर्षक दिखाने के लिए नकली पलकें भी लगाती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कई बार नकली आईलैशेज लगाना बहुत महंगा पड़ सकता है. हाल ही में एक मामला सामने आया है जिसमें महिला आईलैशेज एक्सटेंशन के चक्कर में अस्पताल पहुंच गई. जानें क्या है पूरा मामला.

इंग्लैंड में रहने वाली 25 साल की जेसिका शैनन अपने दोस्तों के साथ बर्थडे पार्टी मना रही थीं. पार्टी में जाने से पहले जेसिका ने आंखों को बड़ा और खूबसूरत दिखाने के लिए रशियन आईलैश एक्सटेंशन करवाया था.

कैसे सामने आए लक्षण

जेसिका ने बताया, शुरुआत में बाईं आंख में थोड़ा खून दिखने लगा था लेकिन दर्द या खुजली नहीं थी. लेकिन जब जेसिका सोकर उठी तो आंखों में दर्द और तेज खुजली हो रही थी. आंखों से पानी बह रहा था. ये देखकर वो घबरा गई क्योंकि उसकी आंखें आपस में चिपक गई थी. दर्द, खुजली और पानी से भरी हुई आंखों से जेसिका को कुछ दिखाई नहीं दे रहा है. उसकी आंखें और चेहरा पूरी तरह सूज गया था. ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने उसके चेहरे पर मुक्का मार दिया है. आंखों पर आईलैशेज लगाने के लिए जिस ग्लू का इस्तेमाल हुआ था, उससे जेसिका को रिएक्शन हुआ था.

ये भी पढ़ें :- ऐसी महिलाओं की तरफ आ‍कर्षित होते हैं मर्द, जान लीजिए राज की बात

जाना पड़ा अस्पताल 

कुछ दिनों तक जेसिका की आंखें इतनी चिपचिपी हो गई थी कि उसे दिखना बंद हो गया था और उसकी आंखें पूरी तरह से चिपक जाती थीं. आंखों को खोलने के लिए जेसिका आंखों पर खूब पानी डालती लेकिन फिर भी कुछ ठी‍क से देख नहीं पा रही थी. शुरू में एक फार्मासिस्ट से कुछ आई ड्रॉप और एंटीहिस्टामाइन लेकर आई. लेकिन अगले कुछ दिनों में स्थिति काफी गंभीर हो गई तो जेसिका को अस्पताल जाना पड़ा. जहां जेसिका को एंटीबायोटिक आई ऑइंटमेंट दिया गया.

क्या हुआ था जेसिका को

अस्पताल में पता चला जेसिका को corneal abrasion हुआ था हालांकि आईलैशेज हटाने में डेढ़ घंटे का समय लगा क्योंकि पलकें सख्त हो गई थीं और वे आपस में चिपक गई थीं. बाद में जेसिका खुद को रोने से रोक नहीं पाई. जेसिका ने कहा कि एक हफ्ते बाद भी उसकी आंखें पूरी तरह से सामान्य नहीं हुई. 25 वर्षीया ने कहा कि उसने सिंथेटिक लैशेज के लिए लगभग 5 हजार रुपये खर्च किए थे.

करीब एक हफ्ते तक दवा लेने के बाद उसकी आंखों का दर्द कम हो गया. डॉक्टर ने कहा कि अगर उसे थोड़ी देर होती तो उसकी आंखों की रोशनी चली जाती.

अगर आप भी फैशन, स्टाइल और खूबसूरत दिखने के मामले में कुछ ऐसा ही कर रहे हैं तो सावधान हो जाएं.

ये भी पढ़ें :- दीपावली पर है गिफ्ट देने की टेंशन, ये हैं आपके लिए कुछ बेस्ट ऑप्शंस

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Trending news