यू-टर्न वाले बयान पर केजरीवाल का राहुल गांधी को जवाब, BJP की मदद करने का लगाया आरोप

केजरीवाल ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी गठबंधन की कोई इच्छा नहीं है, आप सिर्फ दिखावा कर रहे हैं.

यू-टर्न वाले बयान पर केजरीवाल का राहुल गांधी को जवाब, BJP की मदद करने का लगाया आरोप
फाइल फोटो

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है. केजरीवाल ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी की आम आदमी पार्टी (AAP) के साथ गठबंधन की कोई इच्छा नहीं थी. केजरीवाल ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि उनकी पार्टी यूपी और अन्य राज्यों में मोदी विरोधी वोट बांटकर बीजेपी की मदद कर रहे हैं. केजरीवाल ने राहुल गांधी के उस ट्वीट का भी जवाब दिया जिसमें उन्होंने केजरीवाल पर यू-टर्न लेने का आरोप लगाया.

केजरीवाल ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी गठबंधन की कोई इच्छा नहीं है, आप सिर्फ दिखावा कर रहे हैं.     

बता दें कि सोमवार को दिल्ली में गठबंधन की खबरों पर पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीधे प्रतिक्रिया दी थी. राहुल गांधी ने सोमवार को दिल्ली में गठबंधन को लेकर एक ट्वीट किया. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ''गठबंधन के लिए हमारे दरवाजे अभी भी खुले हैं. लेकिन दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक और यू-टर्न ले लिया है. कांग्रेस AAP को चार सीटें देने के लिए तैयार है. समय निकलता जा रहा है.''

 

 

 

 

AAP ने किया कांग्रेस पर पलटवार
वहीं, इस मामले पर AAP नेता संजय सिंह ने कहा कि पंजाब में AAP के 4 सांसद और 20 विधायक हैं लेकिन, कांग्रेस यहां एक भी सीट नही देना चाहती है. हरियाणा में जहां कांग्रेस का एक सांसद नहीं है, वहां भी वह आम आदमी पार्टी को एक सीट नही देना चाहती है. वहीं, दिल्ली में कांग्रेस के कोई सांसद और विधायक नहीं हैं, वहां कांग्रेस हमसे तीन सीट चाहती है. संजय सिंह ने कहा कि क्या ऐसे समझौता होता है. आप दूसरे राज्यों में भाजपा को क्यों नही रोकना चाहते हैं.

 

 

गठबंधन पर कांग्रेस के सामने रखी थीं दो शर्तें
बता दें कि दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर पेंच फंसा हुआ है. इससे पहले आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए शर्त रखते हुए कहा था कि पार्टी कांग्रेस के साथ तभी चुनावी गठबंधन करेगी जब हरियाणा और चंडीगढ़ में भी दोनों दल मिल कर चुनाव लड़ें. पार्टी सूत्रों ने बताया था कि AAP की तरफ से कांग्रेस नेतृत्व को दो शर्तें रखी गई हैं. इसमें पहली शर्त यह है कि दिल्ली के साथ हरियाणा और चंडीगढ़ में भी कांग्रेस गठबंधन करे और दूसरा, कांग्रेस को आप के दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग का समर्थन करना चाहिए.