close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

निखिल कुमार से छिना औरंगाबाद सीट, समर्थकों ने कहा- 'प्रदेश अध्यक्ष ने बेचा टिकट'

औरंगाबाद सीट से निखिल कुमार का टिकट कट चुका है.

निखिल कुमार से छिना औरंगाबाद सीट, समर्थकों ने कहा- 'प्रदेश अध्यक्ष ने बेचा टिकट'
औरंगाबाद सीट से निखिल कुमार का टिकट काट दिया गया है.

नई दिल्लीः बिहार के औरंगाबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस के पूर्व सांसद निखिल कुमार का टिकट कट चुका है. इस बात का पता महागठबंधन के सीट शेयरिंग के ऐलान के वक्त हो गया. जिसमें औरंगाबाद सीट हम के खाते में जाने की घोषणा की गई. हालांकि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा था कि अभी औरंगाबाद सीट पर फैसला नहीं किया गया है. लेकिन अब इसका ऐलान हो गया है कि औरंगाबाद सीट हम के खाते में है और निखिल कुमार का टिकट कट चुका है.

औरंगाबाद सीट पर निखिल कुमार के टिकट कटने की चर्चा महागठबंधन के सीट शेयरिंग के ऐलान से पहले होने लगी थी. समर्थकों ने प्रदेश कांग्रेस के अधिकारियों को चेतावनी दी थी. साथ ही औरंगाबाद सीट पर फिर से विचार करने का पूरा दवाब बनाया था. निखिल कुमार के समर्थकों ने आरोप लगाया कि प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने औरंगाबाद सीट का टिकट बेच दिया है.

समर्थकों ने आरोप लगाया कि निखिल कुमार के राहुल गांधी और सोनिया गांधी से अच्छे संबंध हैं. इसलिए उन्हें तोड़ने के लिए अखिलेश सिंह, शक्ति सिंह गोहिल और मदन मोहन झा ने साजिश रच कर उनका टिकट काटा है. और पैसे के लिए औरंगाबाद सीट का टिकट बेच दिया है. जबकि यह सीट कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है.

वहीं, निखिल कुमार ने भी औरंगाबाद सीट को लेकर लिए गए फैसले पर हैरानी जताई. उन्होंने कहा कि पार्टी के फैसले से उन्हें हैरानी हो रही है. 

निखिल कुमार ने कहा कि पार्टी ने ऐसा फैसला लिया यह मैं समझ नहीं पा रहा हूं. लेकिन जो लोग जिम्मेदार हैं उनसे पूछना जरूर चाहिए कि औरंगाबाद सीट हम के कोटे में क्यों दिया गया. आलाकमान का जो फैसला होगा वह मान्य होगा और आगे की रणनीति पटना जाकर तय करूंगा.

बहरहाल, औरंगाबाद सीट को लेकर फैसला हो चुका है कि यह सीट अब हम के खाते में चली गई है. वहीं, अब निखिल कुमार के समर्थकों में गुस्सा और भी तेज हो गया है. क्योंकि आज सुबह ही उन्होंने पार्टी के अधिकारियों को चेतावनी दी थी. जिसके बावजूद निखिल कुमार का टिकट काटा गया.

बता दें कि महागठबंधन में सीट शयेरिंग के फॉर्मूले का ऐलान किया गया. जिसमें आरजेडी को 20 सीट और कांग्रेस को 9 सीट दी गई है. वहीं, आरएलएसपी के खाते में 5 और हम को 3 सीट दी गई है. साथ ही वीआईपी पार्टी को भी 3 सीटें दी गई है.