72 सालों में पहली बार मतदान के लिए दारुल उलूम ने परीक्षा स्थगित कर किया छुट्टी का ऐलान

दारुल उलूम के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी बनारसी की तरफ से छुट्टी का ऐलान चस्पा कराया गया, जिसमें मतदान को देखते हुए इदारे में पूर्णतया छुट्टी रखे जाने को कहा गया है. इस दौरान संस्था के सभी कार्यालय भी बंद रहेंगे. 

72 सालों में पहली बार मतदान के लिए दारुल उलूम ने परीक्षा स्थगित कर किया छुट्टी का ऐलान
आजादी के बाद ऐसा पहली बार दारुल उलूम देवबंद ने छुट्टी का ऐलान किया.

देवबंद: दारुल उलूम देवबंद ने लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के मद्देनजर आज (11 अप्रैल) को छुट्टी का ऐलान किया है. इतना ही नहीं इस दिन होने वाली परीक्षा को भी रद्द दिया गया है, जो अब शुक्रवार (12 अप्रैल) को संपन्न कराई जाएगी. आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि जब विश्वविख्यात इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम में लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान के मद्देनजर छुट्टी का ऐलान किया गया है. 

बुधवार (10 अप्रैल) को दारुल उलूम के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी बनारसी की तरफ से छुट्टी का ऐलान चस्पा कराया गया, जिसमें मतदान को देखते हुए इदारे में पूर्णतया छुट्टी रखे जाने को कहा गया है. इस दौरान संस्था के सभी कार्यालय भी बंद रहेंगे. 

मदरसा छात्रों का गुरुवार को होने वाली परीक्षा भी छुट्टी के चलते स्थगित कर दिया गया है. ऐलान में कहा गया है कि गुरुवार को होने वाली परीक्षा अब शुक्रवार को संपन्न कराई जाएगी. शुक्रवार को होने वाली परीक्षा दो चरणों में कराई जाएगी. 

वहीं, इस्लामी तालीम के दूसरे बड़े इस्लामिक शैक्षिणक संस्थानों ने भी छुट्टी का ऐलान किया है. आपको बता दें कि चुनाव की तिथि आने से पूर्व ही संस्था द्वारा परीक्षा को लेकर तिथियां घोषित कर दी गई थी, जिसके तहत 11 अप्रैल को छात्रों की परीक्षा होनी थी. 11 अप्रैल को मतदान के चलते ही दारुल उलूम ने परीक्षा स्थगित की गई.