close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात: VVPAT मतगणना के चलते 3 से 4 घंटे देरी से आ सकते हैं परिणाम

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि ईवीएम मतों की गिनती के बाद प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से बिना क्रम के चुनी गई पांच ईवीएम मशीनों की वीवीपैट पर्चियों की गिनती होगी. 

गुजरात: VVPAT मतगणना के चलते 3 से 4 घंटे देरी से आ सकते हैं परिणाम
(फोटो साभार - IANS)

अहमदाबाद: निर्वाचन अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि गुजरात में 26 लोकसभा सीटों के परिणाम घोषित होने में वीवीपैट मशीनों की पर्चियों की गिनती के चलते तीन से चार घंटे का विलंब हो सकता है. 

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस मुरली कृष्ण ने कहा कि ईवीएम मतों की गिनती के बाद प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से बिना क्रम के चुनी गई पांच ईवीएम मशीनों की वीवीपैट पर्चियों की गिनती होगी. 

26 लोकसभा सीटों में से प्रत्येक में छह से सात विधानसभा क्षेत्र हैं.  कृष्ण ने कहा कि यदि पर्चियों और ईवीएम के डेटा का मिलान नहीं होता है तो वीवीपैट पर्चियों की गणना संज्ञान में ली जाएगी.

कृष्ण ने पीटीआई भाषा से कहा,‘इस कवायद के चलते अंतिम परिणाम घोषित होने में तीन से चार घंटे का विलंब होगा...रुझान दोपहर तक आएंगे. केवल औपचारिक घोषणा में विलंब होगा. अंतिम परिणाम देर शाम तक आ सकते हैं.’

राज्य में 26 लोकसभा सीटों और उपचुनाव वाली चार विधानसभा सीटों के मतों की गिनती बृहस्पतिवार को 28 केंद्रों पर सुबह आठ बजे से होगी. इसमें आठ हजार से अधिक कर्मचारी शामिल होंगे.

राज्य में मतदान 23 अप्रैल को एक चरण में हुआ था. यहां 64.11 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जो 1976 के बाद से राज्य में सबसे अधिक मतदान प्रतिशत है. 1976 में 63.77 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने विश्वास जताया कि भाजपा राज्य की सभी 26 सीटें बरकरार रखेगी. उन्होंने गांधीनगर में कहा,‘मोदी ‘लहर’ है और राज्य के लोग मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने को लेकर उत्साही हैं. परिणाम निश्चित हैं.’

गुजरात कांग्रेस प्रमुख अमित चावड़ा ने दावा किया कि उनकी पार्टी राज्य में कम से कम 10 सीटों पर चुनाव जीतेगी. उन्होंने कहा,‘गुजरात के नतीजे सभी को चौंका देंगे.’

2017 में राज्य विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 182 सीटों में से 77 सीटें जीती थीं जबकि भाजपा 99 सीटें जीतकर बेहद कम बहुमत के साथ सत्ता में आई थी.

लोकसभा चुनाव में भाजपा के प्रमुख उम्मीदवारों में पार्टी प्रमुख अमित शाह (गांधीनगर लोकसभा सीट से) और केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह भाभोर (दाहोद से) चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री भरतसिंह सोलंकी को आणंद से और विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनाणी को अमरेली लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है.