close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोदी राज में दोषसिद्धि पहले होती है और जांच बाद में : चिदंबरम

 'अगर प्रधानमंत्री को कोई संदेह है तो उन्हें अपने मित्र अरुण जेटली से विचार-विमर्श करना चाहिए.' 

मोदी राज में दोषसिद्धि पहले होती है और जांच बाद में : चिदंबरम
फाइल फोटो

नई दिल्लीः कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमले पर पलटवार करते हुए बुधवार को दावा किया कि 'मोदी राज' में दोषसिद्धि पहले होती है और जांच बाद में होती है. पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'मोदी राज में दोषसिद्धि पहले होती है आउट जांच बाद में होती है. मोदी राज में कोई व्यक्ति निर्दोष सिद्ध होने तक दोषी माना जाता है.'

उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'अगर प्रधानमंत्री को कोई संदेह है तो उन्हें अपने मित्र अरुण जेटली से विचार-विमर्श करना चाहिए.' 

चिदंबरम ने यह भी कहा कि विधि सचिव प्रधानमंत्री को कानून की कुछ बुनियादी जानकारी दें.

आयकर विभाग ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की
आयकर विभाग ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि आयकर अधिकारियों को डराने-धमकाने और उनके कार्य में बाधा डालने को लेकर मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर तथा उनके कई अन्य मंत्रिमंडल सहयोगियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए. यह जानकारी मंगलवार को सूत्रों ने दी. मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया और राज्य के कई अन्य मंत्रियों तथा उनके समर्थकों ने 28 मार्च को आयकर कार्यालय के पास प्रदर्शन किया था और केंद्र पर आरोप लगाया था कि विपक्ष को डराने-धमकाने के लिए सरकारी एजेंसियों का इस्तेमाल किया जा रहा है. प्रदर्शन तब किया गया जब राज्य में आयकर छापेमारी की जा रही थी. आयकर विभाग ने यह पत्र पांच अप्रैल को लिखा है.