close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रामपुर से टिकट मिलने बोलीं जयाप्रदा, 'ऐसा लग रहा है जैसे मैं घर वापस जा रही हूं'

जयाप्रदा आज ही बीजेपी में शामिल हुई थीं. जयाप्रदा का मुकाबला समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान से होगा जिन्हें सपा ने उम्मीदवार बनाया है. 

रामपुर से टिकट मिलने बोलीं जयाप्रदा, 'ऐसा लग रहा है जैसे मैं घर वापस जा रही हूं'
जया प्रदा ने 2009 और 2014 चुनाव में रामपुर का प्रतिनिधित्व किया था.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव में बीजेपी ने एक और सूची जारी की. बीजेपी ने राजनीतिक रूप हाईप्रोफाइल सीट रामपुर से पूर्व सपा सांसद एवं एक्ट्रेस जया प्रदा को टिकट दिया है. जया प्रदा आज ही बीजेपी में शामिल हुई थीं. जयाप्रदा का मुकाबला समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान से होगा जिन्हें सपा ने उम्मीदवार बनाया है. उधर, कांग्रेस ने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर को रामपुर से मैदान में उतारा है. 

बीजेपी से टिकट मिलने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "मुझे बहुत खुशी महसूस हो रही है, मैं अमित शाह जी और मोदी जी का मुझ पर विश्वास जताने और सीट देने के लिए धन्यवाद देना चाहती हूं रामपुर ने मुझे हमेशा प्यार दिया है, लोग मुझसे प्यार करते हैं, ऐसा लग रहा है जैसे मैं अपने घर वापस जा रही हूं."

जया प्रदा ने 2009 और 2014 चुनाव में रामपुर का प्रतिनिधित्व किया था. दोनों बार उन्होंने रामपुर से कांग्रेस की नूर बानो को शिकस्त दी थी. 1994 में तेलुगू देशम पार्टी में शामिल होकर राजनीति में एंट्रे ली थी. बाद में वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गई थीं लेकिन पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से 2010 में उन्हें निष्कासित कर दिया गया था.

2014 में उन्होंने आरएलडी का दामन थामा और बिजनौर से लोकसभा का चुनाव लड़ा, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा. हाल के दिनों में आजम खान और जया प्रदा के बीच जमकर बयानबाजी हुई. जयाप्रदा ने आजम खान पर गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने मीडिया में दावा किया था 'जिस परिस्थिति में मैं एक महिला के तौर पर आजम खान के साथ चुनाव लड़ रही थी, उस समय मुझ पर तेजाब हमला और मेरी जान को खतरा था...जब कभी मैं घर से बाहर जाती मैं अपनी मां को यह भी नहीं बता सकती थी कि मैं जिंदा लौटूंगी या नहीं.' जयाप्रदा का कहना था कि 'मुलायम सिंह ने एक बार भी फोन करके उनका हाल नहीं जाना.