close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रामपुर में आजम खान से क्यों मिली हार? जया प्रदा ने बताया यह बड़ा कारण

रामपुर लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के आजम खान के हाथों मिली हार के लिए बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा ने अपनी ही पार्टी के कुछ लोगों को जिम्मेदार ठहराया.

रामपुर में आजम खान से क्यों मिली हार? जया प्रदा ने बताया यह बड़ा कारण
सपा प्रत्याशी आजम खान ने अपनी निकटतम प्रतिद्वन्दी जया प्रदा को एक लाख 9 हजार 997 वोटों से हरा दिया.

लखनऊ: रामपुर लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के आजम खान के हाथों मिली हार पर बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा ने प्रतिक्रिया दी है. जया प्रदा रामपुर की जनता को धन्यवाद दिया. जया प्रदा ने कहा वह जनता का जो भी निर्णय है, वह स्वीकार करेंगी. ऐसा नहीं है कि रामपुर से हार मानकर मैं चली जाऊंगी. मैं साबित करूंगी कि मैं रामपुर की रहने वाली हूं, रामपुर में ही रहूंगी. रामपुर में गांव या शहर की हर समस्या को दूर करने की मैं पूरी कोशिश करूंगी.  

पीएम मोदी को प्रचंड बहुमत के लिए बधाई देते हुए अभिनेत्री ने कहा, "जो कमी रही है, उसकी भरपाई करने की पूरी कोशिश करूंगी. जो नाराज हैं, उन्हें मनाने की कोशिश करूंगी. मुझे इस बार भी लाखों वोट दिया. लगभग चार लाख 52 हजार वोट मुझे मिला." जया प्रदा ने अपनी हार की असली वजह की ओर इशारा करते हुए कहा कम समय मिलने की बात कही. उन्होंने कहा, "इतने कम समय में इतने अधिक लोगों से मिलना मुश्किल था." 

अपनों पर साधा निशाना
जयप्रदा ने हार के लिए अपनी ही पार्टी के कुछ लोगों को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, "जयप्रदा ने कहा जो लोग पार्टी में होते हुए विरोधी दल के लिए उन्होंने मदद किया सारी बातें हम विश्लेषण करवाएंगे. उन पर सख्त एक्शन लेंगे. यह सिर्फ जयप्रदा की हार नहीं है. हम विश्लेषण करके कमियों को दूर करेंगे. खास तौर पर शहर में मुसलमान भाइयों को यह बताना चाहती हूं कि भारतीय जनता पार्टी में रहने पर आपको यह शक है शायद आपका साथ नहीं निभाऊंगी. मैं हिंदू हूं लेकिन आप लोगों ने मुझे वोट दिया था. मैंने हिंदू होते हुए भी आप लोगों के लिए ईद में मिठाई भेजी थी. आपको राखी भेजती थी. हिंदू-मुसलमानों की जो यह धरती है, बहुत महान है और जो हिंदू मुसलमानों के इस मिजाज को मैं हमेशा कायम रखूंगी."   

उन्होंने आगे कहा, "मुसलमान भाई मानते हैं कि मैं भारतीय जनता पार्टी में हूं वो हमें भूल जाने में सोच रहे थे. अगर पुल बना है तो सारे वर्गों के लिए सारे धर्मों के लिए हमने काम किया है. मंदिर जाते हैं तो मजार में जाकर भी चादर पोशी करते हैं. आज जो भी निर्णय बना उसको मैं स्वीकारती हूं लेकिन यह नहीं उम्मीद करना कि जयाप्रदा रामपुर छोड़ कर चली जाएगी." 

एक लाख वोट से मिली हार
सपा प्रत्याशी आजम खान ने अपनी निकटतम प्रतिद्वन्दी जया प्रदा को एक लाख 9 हजार 997 वोटों से हरा दिया. खान को पांच लाख 59 हजार 177 वोट मिले जबकि जया प्रदा को चार लाख 49 हजार 180 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी संजय कपूर को 35 हजार नौ वोट मिले. 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के नेपाल सिंह यहां से जीते थे.