close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिटनेस के मुरीद और स्कूली दिनों के खिलाड़ी किरेन रिजिजू होंगे नये खेलमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल में 24 कैबिनेट मंत्री शामिल हैं. 9 स्‍वतंत्र प्रभार वाले राज्‍य मंत्री हैं. 24 राज्‍यमंत्र‍ियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली है.

फिटनेस के मुरीद और स्कूली दिनों के खिलाड़ी किरेन रिजिजू होंगे नये खेलमंत्री
किरेन रिजिजू एक फुटबॉल मैच खेलते हुए. (फोटो साभार: Instagram/Kirenrijiju)

नई दिल्ली: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह के अनुसार केंद्रीय मंत्रिपरिषद् के सदस्यों के बीच विभागों के आवंटन का निर्देश दिया. केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) को युवा मामले और खेल मंत्रालय की कमान सौंपी गई है. इसके साथ ही उन्हें अल्पसंख्यक मामलों का राज्य मंत्री बनाया गया है.

पूर्वोत्तर में बीजेपी का चेहरा माने जाने वाले प्रखर वक्ता और पूर्व गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू नई नरेंद्र मोदी सरकार में युवा कार्य और खेल मंत्रालय संभालेंगे और यह इत्तेफाक है कि अपने स्कूल में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे, फिटनेस के मुरीद इस युवा नेता को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है.

सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे
पिछली सरकार में गृह राज्यमंत्री रहे रिजिजू का खेलों से नाता नया नहीं है. सोशल मीडिया पर अक्सर अपनी वर्जिश की तस्वीरें डालकर फिटनेस के प्रति जागरूकता जगाने वाले रिजिजू अपने स्कूली दिनों में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे. यही नहीं उन्होंने राष्ट्रीय खेलों में भी हिस्सा लिया था. वह अपने करीबी दोस्त और पूर्व खेलमंत्री राज्यवर्धन राठौड की जगह यह विभाग संभालेंगे. राठौड़ को नयी मोदी सरकार में जगह नहीं मिली है.

पूर्वोत्तर में बीजेपी का चेहरा
48 बरस के रिजिजू को पूर्वोत्तर में भारतीय जनता पार्टी का चेहरा माना जाता है. पूर्वोत्तर के सबसे ओजस्वी नेताओं में से एक रिजिजू संसद में क्षेत्र की आवाज भी रहे हैं.

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

After long non-stop tour a quick work out with a tribal folk beat #arunachalpradesh #kheloindia #humfittohindiafit

A post shared by Kiren Rijiju (@kiren.rijiju) on

दिल्ली से पढ़ाई
अपने स्कूली दिनों में समाजसेवा में सक्रिय रहे रिजिजू ने कई आंदोलनों में हिस्सा लिया. वह युवा और सांस्कृतिक टीम के सदस्य के तौर पर 1987 में तत्कालीन सोवियत संघ में भारत उत्सव में भाग लेने गए. युवा नेता और संसदीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के तौर पर कई देशों का दौरा कर चुके रिजिजू ने हंसराज कालेज से स्नातक और दिल्ली विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक की डिग्री हासिल की.

प्रखर वक्ताओं में शामिल
वह 29 बरस की उम्र में 2000 से 2005 तक खादी और ग्रामीण उद्योग आयोग के सदस्य रहे. उन्होंने 2004 में अरूणाचल पश्चिम लोकसभा सीट से संसद में प्रवेश किया और 14वीं लोकसभा के सबसे प्रखर वक्ताओं में अपना नाम शामिल कराने में कामयाब रहे. हालांकि अगले लोकसभा चुनाव में वह 1314 मतों से हार गए. लेकिन 2014 में फिर इसी लोकसभा सीट से चुने गए. उन्होंने पिछली बार कांग्रेस के तकाम संजय को 43,738 मतों से हराया और मोदी सरकार के मंत्रिमंडल का हिस्सा बने.

पूर्व मुख्यमंत्री को हराया
17वीं लोकसभा चुनाव में रिजिजू ने कांग्रेस उम्मीदवार और दो-बार पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके नबाम तुकी को 1,67,132 मतों के अंतर से हराकर अरुणाचल प्रदेश पश्चिम की सीट पर जीत दर्ज की. जहां सूरज की पहली किरणें पड़ती है, उस अरूणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग जिले के नफरा में 19 नवंबर 1971 को जन्मे रिजिजू के पिता अरूणाचल प्रदेश विधानसभा के अस्थायी स्पीकर रह चुके हैं.

गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्रपति भवन के कैंपस में आयोजित एक भव्य समारोह में प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी. उनके साथ 24 कैबिनेट मंत्रियों, नौ राज्य मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) और 24 अन्य ने राज्य मंत्रियों के रूप में शपथ ली थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत व पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग, सभी महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दे और अन्य सभी विभागों को किसी भी मंत्री को आवंटित न करके खुद के पास रखा है.

भाजपा के कद्दावर नेता अमित शाह देश के नए गृह मंत्री होंगे. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नई राजग सरकार में शुक्रवार को राजनाथ को रक्षा मंत्रालय, निर्मला सीतारमण को वित्त और पूर्व नौकरशाह एस जयशंकर को विदेश मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया. राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली पहली सरकार में राजनाथ सिंह गृह मंत्री थे जबकि निर्मला सीतारमण रक्षा मंत्री थीं.