नीतीश कुमार ने इंजीनियरिंग करने के बाद शुरू की सियासत, ऐसे तय किया सीएम पद तक का सफर

नीतीश कुमार ने काफी लंबा राजनीतिक जीवन बिताया है. उन्होंने एक कार्यकर्ता से लेकर सीएम तक का सफर तय किया है.

नीतीश कुमार ने इंजीनियरिंग करने के बाद शुरू की सियासत, ऐसे तय किया सीएम पद तक का सफर
जेडीयू अध्यक्ष, नीतीश कुमार. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 में नालंदा में हुआ था. नीतीश कुमार के पिता स्वतंत्रता सेनानी थे. उन्होंने 1972 में बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से डिग्री हासिल की. जिसके बाद उन्होंने बिहार राज्य बिजली बोर्ड से जुड़े. साथ ही 1973 में मंजू देवी से शादी की वह एक अध्यापिका थी. 1973 में उन्हें एक बेटा भी हुआ. 

कॉलेज के दिनों में जब नीतीश कुमार जयप्रकाश बाबू के सम्पूर्ण कांति आंदोलन से जुड़ तो इसके बाद उन्होंने अपना रूख राजनीति की ओर कर लिया था. नीतीश कुमार ने काफी लंबा राजनीतिक जीवन बिताया है. उन्होंने एक कार्यकर्ता से लेकर सीएम तक का सफर तय किया है.

नीतीश कुमार 1984 में पहली बार बिहार विधानसभा के सदस्य चुने गए थे. वहीं, 1989 में वह पहली बार लोकसभा सदस्य बने थे. नीतीश कुमार का राजनीतिक इतिहास काफी लंबा रहा है. वह 1989-04 तक 6 बार लोकसभा सांसद रहे हैं. वह केंद्र सरकार में कई मंत्री पद पर भी रहे.

नीतीश कुमार को साल 2000 में 7 दिन के लिए बिहार का मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला. वहीं, 15 सालों की लालू यादव की सरकार हटाने के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया. और साल 2005 में फिर से सीएम बने. इसके बाद वह लगातार 2005 से अब तक बिहार के सीएम पद पर हैं. 

नीतीश कुमार साल 2016 में अपनी पार्टी जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी चुने गए. इससे पहले शरद यादव इस पद पर थे. लेकिन जेडीयू छोड़ने के बाद नीतीश कुमार को पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना. वह अब पार्टी का नेतृत्व भी कर रहे हैं.