मांझी के दावों पर बोले चिराग- 'रामविलास पासवान के सहारे बचाना चाहते हैं अपनी नाव'

जीतनराम मांझी के दावों को चिराग पासवान ने झूठ बताया है, और कहा कि अगर उनके पास कोई सबूत हैं तो उन्हें जरूर सामने लाना चाहिए.

मांझी के दावों पर बोले चिराग- 'रामविलास पासवान के सहारे बचाना चाहते हैं अपनी नाव'
चिराग पासवान ने मांझी के दावों को झूठ बताया है.

पटनाः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम के प्रमुख जीतनराम मांझी ने दावा किया है कि एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान महागठबंधन में आना चाहते थे. लेकिन उन्होंने महागठबंधन मे पासवान की एंट्री पर रोक लगा दी थी. इस बयान के बाद बिहार की सियासत गरम हो गई है. वहीं, मांझी के बयान पर चिराग पासवान ने कहा है कि वह अपनी नाव को बचाने के लिए रामविलास पासवान के नाम का सहारा ले रहे हैं.

रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने जीतनराम मांझी के दावों को झूठ करार देते हुए कहा कि वह सौ फीसदी झूठ बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैं रामविलास पासवान का बेटा हूं इसलिए पिता और पार्टी के बारे में मुझसे बेहतर कोई नहीं जान सकता. इसलिए मैं कह रहा हूं कि यह सही नहीं है और यह पूरी तरह से झूठ बोला जा रहा है.

उन्होंने यह भी कहा कि जीतनराम मांझी की नाव खुद ही डूबने वाली है. इसलिए अपनी नाव को डूबने से बचाने के लिए अब वह रामविलास पासवान के नाम का उपयोग कर बचना चाहते हैं. अगर उनके पास किसी तरह का प्रमाण है तो वह इसे जरूर सामने लेकर आएं, नहीं तो वह झूठ बोलना बंद कर दें.

आपको बता दें कि जीतनराम मांझी ने शुक्रवार को यह दावा किया था कि "रामविलास पासवान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होना चाह रहे थे. इसे लेकर पासवान ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद से कई बार बात भी की थी. इस बात पर जब लालू यादव ने मुझसे सुझाव लिया तो मैंने मना कर दिया." 

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद ने खुद यह बात उनसे कही थी. मांझी ने कहा "लालू ने जब मुझसे पूछा था, तब मैंने कहा था कि पासवान के आने से महागठबंधन को कोई लाभ नहीं होगा."