close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RJD की हार पर चिराग पासवान बोले- तेजस्वी यादव ने नहीं रखी थी भाषा की मर्यादा

बिहार में सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी की लोकसभा चुनाव में हार के बाद एलजेपी नेता चिराग पासवान ने कहा कि तेजस्वी यादव को भाषा की मर्यादा रखनी चाहिए थी.

RJD की हार पर चिराग पासवान बोले- तेजस्वी यादव ने नहीं रखी थी भाषा की मर्यादा
चिराग पासवान ने कहा तेजस्वी यादव को रखना चाहिए था भाषा की मर्यादा.

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव में एनडीए ने भारी बहुमत से जीत हासिल की है. वहीं, बिहार में 40 में से 39 सीटों पर कब्जा जमाने में सफल हुए. जबकि महागठबंधन में केवल कांग्रेस एक सीट जीतने में सफल हूई, आरजेडी का सुपड़ा पूरी तरह से साफ हो गया. अब हार की समीक्षा की जा रही है.

बिहार में सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी की लोकसभा चुनाव में हार के बाद एलजेपी नेता चिराग पासवान ने कहा कि तेजस्वी यादव को भाषा की मर्यादा रखनी चाहिए थी. उन्होंने कहा कि मैंने अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव को बहुत समझाया कई बार समझाने की पूरी कोशिश भी की थी. लेकिन वह इस बात को नहीं समझ पाए.

उन्होंने कहा कि तेजस्वी में इतना अहंकार हो गया था कि मेरी बात को नहीं सुनी. उसने सीएम नीतीश कुमार ऊपर इस तरह से हमला किया कि वह साफ दिख रहा था कि वह किस तरह की भाषा का प्रयोग कर रहे हैं. वह मर्यादा का भी ख्याल नहीं कर रहे थे.

चिराग ने कहा कि वह इस तरह की भाषा बोल रहे थे जो राहुल गांधी ने भी ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया होगा. हमने तो कभी लालू यादव के लिए भी स्तरहीन बात नहीं की. खुद लालू यादव भी ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया होगा. वह काफी बड़े हैं और मैं उनकी इज्जत करता हूं. लेकिन तेजस्वी तो सारी मर्यादा को तार-तार कर दिया था.

तेजस्वी यादव नीतीश कुमार को लगातार पलटुराम शब्द प्रयोग कर रहे थे. वह बिलकुल सही नहीं है. इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है.

उन्हें समझना चाहिए कि वह जिस पर हमला बोल रहे हैं उनका राजनीतिक इतिहास रहा. जो सफल राजनेता हुए है उनके खिलाफ भाषा की मर्यादा पर ध्यान रखना चाहिए. वह इस की भरपाई कभी नहीं कर पाएंगे. इस छवि को वह कभी मिटा नहीं पाएंगे.