• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

PM मोदी के खिलाफ 102 उम्मीदवारों का नामांकन, पड़ सकती है खास EVM की जरूरत!

 नामांकन दाखिल करने वालों में कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय, सपा की डमी उम्मीदवार शालिनी यादव, पद्मश्री से सम्मानित हॉकी खिलाड़ी मोहम्मद शाहिद की बेटी हिना के अलावा तेलंगाना से आए हल्दी किसानों के प्रतिनिधि कुंटा गंगाराम मोहन रेड्डी के साथ कई अन्य किसानों ने भी पर्चा दाखिल किया है. 

PM मोदी के खिलाफ 102 उम्मीदवारों का नामांकन, पड़ सकती है खास EVM की जरूरत!
नामांकन के आखिरी दिन सपा प्रत्याशी के रूप में तेज बहादुर यादव ने पर्चा दाखिल किया. वह इससे पहले निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में भी पर्चा दाखिल कर चुके हैं.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के सियासी रण अपने चरम पर हैं. इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की संसदीय सीट वाराणसी लगातार सुर्खियों में बनी हुई है. हाल ही में सपा-बसपा गठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार के रूप में बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव के प्रत्याशी बनने के साथ ही एक और दिलचस्प खबर वाराणसी लोकसभा सीट से जुड़ गई है. दरअसल, इस सीट पर नामांकन की आखिरी तारीख 29 अप्रैल तक कुल 102 प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल किया है.  

64 उम्मीदवारों लग सकती है चार ईवीएम
अगर यह उम्मीदवारों की यह संख्या इतनी ही बनी रहती है तो वाराणसी लोकसभा सीट पर बैलट पेपर से चुनाव करवाना होगा. कहा जा रहा है कि नाम वापसी की तारीख निकलने के बाद अगर प्रत्याशियों की संख्या 64 भी बची रहती है तो इस सीट पर ईवीएम से चुनाव करावाया जा सकता है. वहीं, अगर यह संख्या 64 से कम नहीं होती है तो चुनाव आयोग तो बैलट पेपर से मतदान कराने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. बता दें कि नामांकन के अंतिम दिन जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद समेत कुल 71 लोग शामिल हैं.  

 

 

बाहुबली आतीक अहमद समेत इन लोगों ने किया नामांकन
नामांकन के आखिरी दिन सपा प्रत्याशी के रूप में तेज बहादुर यादव ने पर्चा दाखिल किया. वह इससे पहले निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में भी पर्चा दाखिल कर चुके हैं. बता दें कि चुनाव अधिकारी ने तेज बहादुर को शपथ पत्र में गलत जानकारी देने के लिए मंगलवार को ही नोटिस भी जारी किया है. अबतक नामांकन दाखिल करने वालों में कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय, सपा की डमी उम्मीदवार शालिनी यादव, पद्मश्री से सम्मानित हॉकी खिलाड़ी मोहम्मद शाहिद की बेटी हिना के अलावा तेलंगाना से आए हल्दी किसानों के प्रतिनिधि कुंटा गंगाराम मोहन रेड्डी के साथ कई अन्य किसानों ने भी पर्चा दाखिल किया है. 

उम्मीदवारों के नाम वापसी की आखिरी तारीख 2 मई है. अगर प्रत्याशियों की संख्या 64 से कम हुई तो चार ईवीएम लगाकर वोटिंग कराई जाएगी. वहीं, इससे ज्यादा संख्या रहने पर बैलट पेपर से वोटिंग होगी. बता दें कि चुनाव आयोग द्वारा एक लोकसभा सीट पर अधिकतम चार ईवीएम लगाने का ही नियम है. 

निजामाबाजद लोकसभा सीट पर लगी थीं जंबो ईवीएम
हालांकि, चुनाव आयोग एक तरीका और अपना सकता है. और वह यह है कि इससे पहले लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के मतदान के दौरान तेलंगाना की निजामाबाद संसदीय सीट पर भी ऐसी ही स्थिति सामने आई थी. दरअसल, निजामाबाद लोकसभा सीट पर 185 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया था. इस स्थिति से निपटने के लिए चुनाव आयोग ने 12 जंबो साइज ईवीएम का प्रयोग किया था. इन ईवीएम को 'एल' शेप में हर पोलिंग बूथ के अंदर रखा गया था.