close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: बालासोर में हैं कांटे का मुकाबला

इस सीट पर चुनावी लड़ाई टक्कर की मानी जा रही है. बीजेपी यहां से तीन बार जीत हासिल कर चुकी है. जबकि 2014 में मिली जीत के बाद बीजेडी भी फिर से इस सीट पर अपनी सफलता दोहरना चाहेगी. 

लोकसभा चुनाव 2019: बालासोर में हैं कांटे का मुकाबला
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: ओडिशा के बालासोर लोकसभा सीट पर मतदान 29 अप्रैल को है. बीजेडी ने इस सीट से मौजूदा सांसद रबींद्र जेना को टिकट दिया है. जबकि बीजेपी ने प्रताप सारंगी को मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने नवज्योति पटनायक को टिकट दिया है.

इस सीट पर चुनावी लड़ाई टक्कर की मानी जा रही है. बीजेपी यहां से तीन बार जीत हासिल कर चुकी है. जबकि 2014 में मिली जीत के बाद बीजेडी भी फिर से इस सीट पर अपनी सफलता दोहरना चाहेगी. दूसरी तरफ कांग्रेस भी इस सीट के राजनीतिक इतिहास को देखते हुए यहां से जीत की उम्मीद कर सकती है. 

2014 में यहां बीजेडी के रबींद्र कुमार जेना जीते थे. जेना को 4,33,768 वोट मिले थे जबकि बीजेपी के प्रताप सारंगी को 2,91,943 वोट मिले थे. 2009 में यहां से कांग्रेस के श्रीकांत कुमार जेना चुनाव जीते थे. 

 

बालासोर का राजनीतिक इतिहास
1951, 1957 और 1962 में इस सीट पर कांग्रेस को कामयाबी मिली थी. 1967 में यह सीट कांग्रेस के हाथ से निकली और सफलता कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया को मिली. हालांकि 1971 के चुनाव में कांग्रेस ने फिर इस सीट पर कब्जा जमा लिया. 1977 में एक बार फिर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया यहां से जीती. इसके बाद के दो चुनावों 1980 और 1984 में यहां से कांग्रेस जीत हासिल की. 1991 और 1996 में भी इस सीट पर कांग्रेस को जीत मिली थी. 1989 में इस सीट से जनता दल को कामयाबी मिली. 

1998 के चुनाव में बीजेपी यहां से पहली बार जीती और इसके बाद 1999, 2004 में उसने अपनी कामयाबी को दोहराया. 1998 के चुनाव में बीजेपी यहां से पहली बार जीती और इसके बाद 1999, 2004 में उसने अपनी कामयाबी को दोहराया. 2009 कांग्रस को यहां से कामयाबी मिली थी.