close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनाव 2019: मछलीशहर में BJP की राह में महागठबंधन बन सकता है रोड़ा, मिलेगी कड़ी चुनौती

देश में हुए पहले लोकसभा चुनाव में मछलीशहर की सीट फूलपुर संसदीय सीट का हिस्सा हुआ करती थी. वर्ष 1962 में हुए परिसीमन के बाद मछलीशहर लोकसभा सीट अस्तित्व में आई. 

चुनाव 2019: मछलीशहर में BJP की राह में महागठबंधन बन सकता है रोड़ा, मिलेगी कड़ी चुनौती
मछलीशहर संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण में 12 मई को मतदान होगा.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियासी रण अपने चरम पर है. इन सबके बीच हम बात करेंगे एक ऐसी लोकसभा सीट की, कभी जिसका प्रतिनिधित्व इस देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने किया था. दरअसल, हम बात कर रहे हैं मछलीशहर लोकसभा सीट की. देश में हुए पहले लोकसभा चुनाव में मछलीशहर की सीट फूलपुर संसदीय सीट का हिस्सा हुआ करती थी. वर्ष 1962 में हुए परिसीमन के बाद मछलीशहर लोकसभा सीट अस्तित्व में आई. 

वर्तमान में मछलीशहर लोकसभा सीट के अंतर्गत जौनपुर जिले का मछलीशहर, मड़ियाहूं, जफराबाद, केराकत और वाराणसी का पिंडरा विधानसभा सीटें आती हैं. इनमें से चार सीटें एनडीए के खाते में हैं और एक सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा है. एनडीए की चार सीटों में से तीन बीजेपी और एक सहयोगी घटक दल अपना दल के खाते में है. 

ये था 2014 का जनादेश
अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित मछलीशहर लोकसभा सीट पर 2014 के आम चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी रामचरित्र निषाद जीत हासिल कर संसद पहुंचे थे. बीजेपी प्रत्याशी रामचरित्र निषाद को कुल 4,38,210 वोट मिले थे. निषाद ने बसपा के प्रत्याशी भोलानाथ को 1,72,155 वोटों से हराया था. बसपा प्रत्याशी को भोलानाथ को 2,66,055 वोट प्राप्त हुए थे. वहीं, 1,91,387 वोटों के साथ सपा के प्रत्याशी तूफानी सरोज तीसरे स्थान पर रहे थे.

मछलीशहर से अबतक ये रहे सांसद
1962 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई मछलीशहर लोकसभा सीट पर हुए पहले चुनाव में गनपत राम (कांग्रेस), 1967 में मंगेश्वर (कांग्रेस), 1971 में नागेश्वर द्विवेदी (कांग्रेस), 1977 में राज केशर सिंह (बीएलडी), 1980 में शिव शरन वर्मा (जेएनपी), 1984 में श्रीपत मिश्र (कांग्रेस) ने जीत दर्ज की. 1991 में शिव शरन वर्मा (जद), 1996 में राम विलास वेदांती (बीजेपी), 1998 में चिन्मयानंद (बीजेपी), 1999 में चंद्रनाथ सिंह (सपा), 2004 में उमाकांत यादव (बीएसपी) और 2009 में सरोज तूफानी (सपा) ने जीत हासिल की थी. 

छठवें चरण में होगा मतदान
मछलीशहर लोकसभा सीट पर मतदाताओं की कुल संख्या 18,91,969 है. इनमें से 10,26,789 पुरुष मतदाता और 8,65,121 महिला मतदाता हैं. उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के बाद इस सीट पर बीजेपी की राह आसान नहीं दिख रही है. मछलीशहर संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण में 12 मई को मतदान होगा.