close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019 : 2014 में कांग्रेस का किला ढहाकर सांगली सीट पर आई थी BJP

 इस सीट पर लंबे समय तक कांग्रेस का कब्‍जा रहा है. 2014 में मोदी लहर में इस सीट पर बीजेपी ने परचम फहराया. 

लोकसभा चुनाव 2019 : 2014 में कांग्रेस का किला ढहाकर सांगली सीट पर आई थी BJP
बीजेपी ने 2014 में जीता था चुनाव. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के तहत महाराष्‍ट्र की 48 सीटों पर मतदान होना है. इसके तहत सांगली लोकसभा सीट पर 23 अप्रैल को तीसरे चरण के तहत मतदान हुआ. इस सीट पर लंबे समय तक कांग्रेस का कब्‍जा रहा है. 2014 में मोदी लहर में इस सीट पर बीजेपी ने परचम फहराया. 23 अप्रैल को यहां 64.45% वोटिंग दर्ज की गई. 2014 में इस सीट पर 63.52% मतदान हुआ था.

6 विधानसभा सीटें हैं इस सीट पर
महाराष्‍ट्र के सांगली लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत 6 विधानसभा सीटें आती हैं. इनमें मिराज, सांगली, पालुस कदेगांव, खानापुर, टसगांव-कवाथे महनकल और जट हैं. 1957 में यहां हुए पहले आम चुनाव में पीजेंट्स एंड वर्कर्स पार्टी ऑफ इंडिया के बलवंत पाटिल ने जीत दर्ज की थी.

 

चुनाव मैदान में हैं ये प्रत्‍याशी
महाराष्ट्र की सांगली लोकसभा सीट पर इस बार 12 प्रत्‍याशी चुनाव मैदान में हैं. बीजेपी से यहां से अपने मौजूदा सांसद संजय रामचंद्र पाटिल को उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस ने यह सीट अपने सहयोगी दल स्वाभिमानी शेतकारी संगठन (एसएसएस) को दी है. उससे विशाल प्रकाशराव चुनाव लड़ेंगे. बसपा से शंकर मार्तंड, वंचित बहुजन आघाडी से गोपीचंद कुंडलीक पालकर और बहुजन मुक्ति मोर्चा से राजेंद्र नामदेव चुनाव मैदान में हैं. यहां से 6 निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव लड़ रहे हैं.