PM मोदी ने वाराणसी से दाखिल किया नामांकन

पीएम मोदी के नामांकन के दौरान बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे समेत 6 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री और एनडीए के दिग्‍गज नेता भी मौजूद रहे.

PM मोदी ने वाराणसी से दाखिल किया नामांकन
आज नामांकन कर रहे हैं पीएम मोदी.

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (26 अप्रैल) अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के लिए नामांकन दाखिल करने कलेक्‍ट्रेट ऑफिस पहुंच गए हैं. कुछ ही देर में व‍ह अपना पर्चा भरेंगे. उनके साथ एनडीए के कई दिग्‍गज नेता भी मौजूद हैं. पीएम मोदी ने कलेक्‍ट्रेट पहुंचकर अकाली दल के अध्‍यक्ष प्रकाश सिंह बादल के पैर छूकर उनसे आशीर्वाद भी लिया.

इसके पहले उन्‍होंने बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इसके बाद उन्‍होंने काल भैरव मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की. वहां से वह बनारस की गलियों में लोगों से मिलते हुए नामांकन के लिए रवाना हुए थे. 


काल भैरव मंदिर में पीएम मोदी ने की पूजा.

पीएम मोदी ने बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि देश के सभी कार्यकर्ताओं को मेरा आभार. मैं भी बूथ का कार्यकर्ता रहा हूं. मुझे भी दीवारों पर पोस्‍टर चिपकाने का मौका मिला था. उन्‍होंने अंत में मंच से कहा मेरा बूथ सबसे मजबूत. पीएम ने हर हर महादेव का जयघोष किया. उन्‍होंने कहा कि मैं कूड़े-कचरे से खाद बनाता हूं और उसी से कमल खिलाता हूं. पीएम ने बूथ कार्यकर्ताओं से कहा कि यह चुनाव जंग नहीं है, लोकतंत्र का उत्‍सव है.

पीएम ने क‍हा, 'इस चुनाव के दो पहलू हैं- एक है काशी लोकसभा जीतना. मेरे हिसाब से ये काम कल पूरा हो गया है. एक काम अभी बाकी है वो है पोलिंग बूथ जीतना और एक भी पोलिंग बूथ पर बीजेपी का झंडा झुकने नहीं देना है. मेरा भरोसा सीट जीतने में नहीं है, बल्कि लोकतंत्र जीतने में है.'

उन्‍होंने कहा कि कल जो दृश्य मैं देख रहा था उसमें मुझे आपके परिश्रम और पसीने की महक आ रही थी. देश भर के कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है. पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में इतने चुनाव हुए लेकिन ये चुनाव होने के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी. क्योंकि आजादी के बाद पहली बार प्रो इंकम्बेंसी लहर दिखाई दे रही है.

'महिलाओं का मतदान 5% ज्यादा होना चाहिए'
पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि इस चुनाव में हमें कुछ रिकॉर्ड भी तोड़ने हैं. मैं चाहता हूं कि लोकतंत्र जीतना चाहिए. रिकॉर्ड ये तोड़ना है कि अब तक बनारस में, उत्तर प्रदेश में जितनी भी पोलिंग हुई है, उससे कहीं ज्यादा वोटिंग हो. दुनिया को दिखा देना है कि मतदान के सारे रिकॉर्ड हम तोड़ देंगे. मेरी एक इच्छा है जो मैं गुजरात में भी पूरा नहीं कर पाया. क्या बनारस वाले मेरी वो इच्छा पूरी कर सकते हैं क्या? मैं चाहता हूं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मतदान 5% ज्यादा होना चाहिए.

'इस बार जनता चुनाव लड़ रही है'
पीएम मोदी ने कहा, 'देश के लोग कह रहे हैं कि फिर एक बार मोदी सरकार. इस बार जनता चुनाव लड़ रही है. जनता 5 साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर हमसे जुड़ गई है. जनता ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है. 

पीएम मोदी ने वाराणसी से चुनाव लड़ने पर कहा, 'सरकार बनाना जनता का काम है और सरकार चलाना हमारी जिम्मेदारी है और ये जिम्मेदारी मैंने पूरी ईमानदारी से निभाई है. आपको मैं कार्यकर्ता के तौर पर हिसाब देता हूं. कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने 5 साल में मुझसे जितना समय मांगा, जहां मांगा मैंने एक बार भी मना नहीं किया.'

बाबा की मर्जी के बिना कुछ हो सकता है क्या?
पीएम मोदी ने इससे पहले ट्वीट करके कहा, 'मोदी काशी में बदलाव करने वाला कौन होता है! जहां स्वयं बाबा विश्वनाथ विराजे हैं, वहां उनकी मर्जी के बिना कुछ हो सकता है क्या?' पीएम मोदी के नामांकन में शामिल होने के लिए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे वाराणसी पहुंच गए हैं. उन्‍होंने यहां के काल भैरव मंदिर में पहुंचकर पूजा-अर्चना की. बीजेपी के सहयोगी दलों के नेता वाराणसी पहुंच चुके हैं. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने इन नेताओं से मुलाकात भी की.

काल भैरव मंदिर जाएंगे पीएम
अपना नामांकन दाखिल करने से पहले पीएम मोदी काल भैरव मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे. उनके नामांकन में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे समेत बीजेपी शासित 6 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री भी मौजूद रहेंगे. इसके साथ ही पीएम मोदी के नामांकन पत्र सौंपे जाने के अवसर पर अन्नाद्रमुक, अपना दल एवं उत्तर पूर्व लोकतांत्रिक गठबंधन के नेता भी मौजूद रहेंगे.

पीएम मोदी के प्रस्‍तावकों की सूची में 7 नाम
इस बार पीएम मोदी के प्रस्‍तावकों की सूची में 7 नाम शामिल हैं. इनमें ठुमरी गायिका और उस्‍ताद बिस्मिल्‍लाह खां की मानद बेटी पद्मश्री सीमा घोष का नाम भी शामिल बताया जा रहा है. यह सूची बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह को सौंपी जा चुकी है. इसमें एक डोमराजा परिवार से जुड़े सदस्य के साथ, एक चौकीदार, संघ से जुड़े वरिष्ठ नेता और एक महिला का नाम प्रस्तावित किया गया है.

बता दें कि पीएम मोदी ने गुरुवार को वाराणसी में 7 किमी लंबा रोड शो किया था. रोड शो के बाद शाम को उन्‍होंने गंगा आरती में भी हिस्‍सा लिया. पीएम मोदी ने 2014 लोकसभा चुनाव दो सीटों वाराणसी और वडोदरा से लड़ा था. दोनों सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद उन्होंने बाद में वड़ोदरा सीट छोड़ दी थी.


गुरुवार को पीएम मोदी ने वाराणसी में किया था रोड शो. फोटो PTI

ये नेता पीएम मोदी के नामांकन के समय मौजूद
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, बिहार सीएम नीतीश कुमार, शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे, असम सीएम सर्वानंद सोनेवाल, एलजीपी चीफ रामविलास पासवान, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री सीता रमण, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, हेमा मालिनी, जयाप्रदा, मनोज तिवारी, रवि किशन, दिनेश लाल यादव निरहुआ.