close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कृष्णा नगर लोकसभा सीटः वामपंथ के गढ़ में बीजेपी और TMC की सेंधमारी, मिलेगी कामयाबी?

पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर लोकसभा सीट हमेशा से ही  मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का गढ़ रही है. हालांकि एक बार बीजेपी भी इस सीट पर जीत दर्ज में कायब रही है.

कृष्णा नगर लोकसभा सीटः वामपंथ के गढ़ में बीजेपी और TMC की सेंधमारी, मिलेगी कामयाबी?
फाइल फोटो.

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर लोकसभा सीट हमेशा से ही  मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का गढ़ रही है. हालांकि एक बार बीजेपी भी इस सीट पर जीत दर्ज में कायब रही है, लेकिन इस बार मुकाबला त्रिकोणीय होने वाला है. तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी, कांग्रेस के उम्मीदवार सहित कुल 11 लोग मैदान में हैं. 

TMC ने महुला मोइत्रा पर खेला है दांव
तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने महुआ मोइत्रा को चुनावी रण में उतारा है. तो वहीं, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से झा शांतनु पर दांव खेलते हुए मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है. वहीं, बीजेपी की ओर से कल्याण चौबे प्रत्याशी हैं. इन लोकसभा चुनावो में इन तीनों की पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर है. 

बीजेपी ने पूर्व गोलकीपर पर खेला है दांव
पूर्व भारतीय गोलकीपर कल्याण चौबे जब फुटबाल खेलते थे तो उनका काम था विपक्षी टीम को गोल करने से रोकना पर अब चुनावी समर में उनकी भूमिका पूरी तरह से बदल गई है. अब वह बीजेपी के लिए कृष्णानगर संसदीय सीट से गोल दाग़ने की फिराक में हैं. चौबे(42) पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं और उन्हें भरोसा है कि फुटबॉल मे उनका जो तर्जुबा है, वह उन्हें इस लोकसभा का मैच जीतने में मदद करेगा. 

इस सीट पर 13 लोकसभा चुनाव हो चुके हैं और माकपा ने यहां से 9 बार जीत हासिल की है. हालांकि 2009 के चुनावों में तृणमूल कांग्रेस के तपस पॉल ने जीत हासिल की और 2014 में मोदी लहर के बावजूद वह अपनी जीच सुनिश्चित करने में कामयाब रहे.