यूपीः सपा-बसपा के साथ नहीं होगा कांग्रेस का गठबंधन, मांगी ज्यादा सीटें
Advertisement

यूपीः सपा-बसपा के साथ नहीं होगा कांग्रेस का गठबंधन, मांगी ज्यादा सीटें

 यूपी में सपा-बसपा के साथ अजित सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) गठबंधन का हिस्सा रहेगी. 

फाइल फोटो

लखनऊः लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर कांग्रेस के बाद आज समाजवादी पार्टी ने भी अपने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर दी है. यूपी में समाजावादी पार्टी बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में उतरने को तैयार है. हालांकि समाजवादी पार्टी दूसरी तरफ यह भी कह रही है कि कांग्रेस के साथ उसने गठबंधन के लिए इंकार नहीं किया क्योंकि हर बार की तरह इस बार भी पार्टी ने अमेठी और रायबरेली सीट पर अपने प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला किया है. लेकिन सूत्रों के हवाले से अब खबर आ रही है कि सपा-बसपा का कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होगा. गठबंधन की इन दोनों प्रमुख पार्टियों ने यह फैसला इसलिए किया है क्योंकि कांग्रेस ने यूपी में सपा-बसपा से ज्यादा सीटें मांगी थी.

बता दें कि यूपी में सपा-बसपा के साथ अजित सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) गठबंधन का हिस्सा रहेगी. 5 मार्च को आरएलडी और समाजवादी पार्टी के नेताओं अखिलेश यादव और जयंत चौधरी ने घोषणा की थी आरएलडी यूपी में मथुरा, बागपत और मुजफ्फरनगर सीट से चुनाव लड़ेगी. वहीं अमेठी और रायबरेली सीट से सपा-बसपा-रालोद का कोई उम्मीदवार नहीं खड़ा होगा.

लोकसभा चुनाव: सपा ने भी जारी की 6 प्रत्‍याशियों की पहली लिस्‍ट, मैनपुरी से लड़ेंगे मुलायम
समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए 6 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की है. इसके तहत सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. फिलहाल वह आजमगढ़ से सांसद हैं. 2014 में वह इन दोनों ही सीटों से जीते थे लेकिन बाद में उन्‍होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी थी. मुलायम के अलावा बदायूं से धर्मेंद्र यादव सपा प्रत्‍याशी होंगे. अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले धर्मेंद्र यादव 2014 के चुनाव में मोदी लहर के बावजूद बदायूं से ही जीते थे. उनको एक बार फिर सपा ने उसी सीट से मैदान में उतारा है.

fallback

इसी तरह से फिरोजाबाद से मौजूदा सांसद अक्षय यादव को फिर से मैदान में उतारा गया है. इसके अलावा बहराइच से शब्बीर बाल्मीकि, रॉबर्ट्सगंज से भाईलाल कोल और इटावा से कमलेश कठेरिया को सपा ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्‍याशी बनाया है.

कांग्रेस की पहली सूची जारी, रायबरेली से सोनिया और अमेठी से राहुल उम्मीदवार
कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश और गुजरात की 15 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की जिसमें संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के भी नाम हैं जो इस बार भी अपनी परंपरागत सीटें क्रमश: रायबरेली और अमेठी से चुनाव लड़ेंगे.

सूत्रों के मुताबिक पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में इस सूची को मंजूरी मिली. पार्टी ने उत्तर प्रदेश के लिए 11 और गुजरात के लिए चार उम्मीदवार घोषित किये हैं . रायबरेली लोकसभा सीट के लिए सोनिया गांधी के उम्मीदवारी की घोषणा के साथ ही उन अटकलों पर विराम लग गया जिनमें कहा जा रहा था कि संप्रग प्रमुख शायद स्वास्थ्य कारणों से इस बार चुनाव नहीं लड़ें और उनके स्थान पर उनकी बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा चुनावी मैदान में उतरें.

उत्तर प्रदेश में रायबरेली से सोनिया, अमेठी से राहुल गांधी, फर्रुखाबाद से पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, धौरहरा से जितिन प्रसाद, बदायूं से सलीम शेरवानी, कुशीनगर से आरपीएन सिंह, फैजाबाद से निर्मल खत्री और सहारनपुर से इमरान मसूद को उम्मीदवार बनाया गया है.

इसी तरह उन्नाव से अनु टंडन, अकबरपुर से राजाराम पाल और जालौन से बृजलाल खबरी को टिकट दिया गया है. गुजरात में अहमदाबाद-पश्चिम से राजू परमार, आणंद से भरत सिंह सोलंकी, वडोदरा से प्रशांत पटेल और छोटा उदयपुर से रंजीत मोहनसिंह राठवा को उम्मीदवार घोषित किया गया है.

उत्तर प्रदेश के लिए घोषित 11 नामों में से दो नाम ऐसे हैं जो अतीत विवादों में रह चुके हैं. सहारनपुर से कांग्रेस उम्मीदवार इमरान मसूद ने 2014 के लोकसभा चुनाव के समय प्रधानमंत्री (गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री) नरेंद्र मोदी के बारे में विवादित बयान दिया था. अकबरपुर से उम्मीदवार घोषित किये गए राजाराम पाल का नाम 2005 के 'पैसे लेकर प्रश्न पूछने' के बहुचर्चित स्टिंग मामले में आया था. उस वक्त पाल बसपा के सांसद थे.

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)

Trending news