close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस लोकसभा सीट पर सबसे कम 181 वोटों से हुई हार-जीत, NOTA पर पड़े 10830 मत

बीजेपी ने पार्टी शासित प्रदेशों के साथ-साथ कांग्रेस और गैर कांग्रेस शासित राज्यों में भी अपना परचम लहराया है. बीजेपी ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, यूपी और पश्चिम बंगाल तक में बेहतरीन प्रदर्शन किया है.

इस लोकसभा सीट पर सबसे कम 181 वोटों से हुई हार-जीत, NOTA पर पड़े 10830 मत
उत्तर प्रदेश में बीजेपी नीत एनडीए को 63 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में 543 में 542 सीटों पर मतगणना के नतीजे (Lok Sabha Election Results 2019) शुक्रवार को कई राज्यों में साफ हो चुके हैं. 'प्रचंड मोदी लहर' पर सवार होकर बीजेपी ने एक बार फिर से बहुमत का आंकड़ा छू लिया. वहीं, 2019 के चुनावी नतीजों पर नजर डालें तो, बीजेपी की यह जीत 2014 के आंकड़ों से भी आगे है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करिश्माई नेतृत्व के चलते लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) में एक बार फिर से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सत्ता में वापसी हुई है.

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी संसद में पड़ जाएंगे 'अकेले', लोकसभा चुनाव में इन 5 खास दोस्तों को मिली हार

इन सबके बीच उत्तर प्रदेश की मछलीशहर लोकसभा सीट काफी महत्वपूर्ण हो गई है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि, मछलीशहर लोकसभा सीट पर चुनावी प्रतिद्वंदियों के बीच जीत-हार का अंतर केवल 181 वोट का रहा है. इस सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी भोलानाथ सरोज को 4,88,397 वोट मिले हैं. वहीं, यूपी में सपा-बसपा गठबंधन के बाद बीएसपी के खाते में गई इस सीट से उम्मीदवार त्रिभुवन राम को 4,88,216 वोट मिले हैं. बीजेपी प्रत्याशी को कुल 47.19 फीसदी वोट मिले हैं और बीएसपी प्रत्याशी को 47.17 फीसदी मत प्राप्त हुए हैं.

 

 

नोटा पर पड़े 10,830 वोट
दोनों प्रत्याशियों के बीच हार का अंतर केवल 0.02 फीसदी का है. वहीं, इस सीट पर 10,830 वोट नोट पर पड़े हैं. नोट पर पड़े वोटों का कुल मत प्रतिशत 1.05 है. नोटा पर पड़े वोटों से अगर कुछ वोट इधर-उधर होते तो इस सीट पर परिणाम बदल सकता था. बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी नीत एनडीए को 63 सीटों पर जीत हासिल हुई है. इससे इतर बीजेपी ने पार्टी शासित प्रदेशों के साथ-साथ कांग्रेस और गैर कांग्रेस शासित राज्यों में भी अपना परचम लहराया है. बीजेपी ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, यूपी और पश्चिम बंगाल तक में बेहतरीन प्रदर्शन किया है.