close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में बीजेपी के कई नेता नाराज, भिंड के पूर्व सांसद कांग्रेस के संपर्क में

 लोकसभा चुनाव 2019 से पहले मध्य प्रदेश में टिकट वितरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं में असंतोष बढ़ रहा है. शहडोल के सांसद ज्ञान सिंह और भिंड के पूर्व सांसद अशोक अर्गल टिकट न मिलने को लेकर खुले तौर पर अपनी नाराजगी जता चुके हैं. अर्गल कांग्रेस के संपर्क में हैं.

मध्य प्रदेश में बीजेपी के कई नेता नाराज, भिंड के पूर्व सांसद कांग्रेस के संपर्क में
राज्य की 29 लोकसभा सीटों में वर्तमान में 26 पर बीजेपी और तीन पर कांग्रेस का कब्जा है.

भोपाल: लोकसभा चुनाव 2019 से पहले मध्य प्रदेश में टिकट वितरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं में असंतोष बढ़ रहा है. शहडोल के सांसद ज्ञान सिंह और भिंड के पूर्व सांसद अशोक अर्गल टिकट न मिलने को लेकर खुले तौर पर अपनी नाराजगी जता चुके हैं. अर्गल कांग्रेस के संपर्क में हैं.

राज्य की 29 लोकसभा सीटों में वर्तमान में 26 पर बीजेपी और तीन पर कांग्रेस का कब्जा है. बीजेपी ने अब तक 14 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है. बीजेपी ने पांच वर्तमान सांसदों का टिकट काटा है. टिकट काटे जाने को लेकर बीजेपी में विरोध के स्वर मुखर हो रहे हैं. 

शहडोल से सांसद ज्ञान सिंह ने टिकट काटे जाने पर सख्त नाराजगी जताई है. ज्ञान सिंह ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान टिकट वितरण पर ऐतराज जताया और कहा कि वे गरीब हैं, इसलिए उनका टिकट काटा गया है. बीजेपी ने कांग्रेस से आई हिमाद्री सिंह को उम्मीदवार बनाए जाने पर भी ज्ञान सिंह ने आपत्ति दर्ज कराई है. साथ ही निर्दलीय उम्मीदवार के तौर चुनाव लड़ने की चेतावनी दे डाली है. 

पूर्व सांसद अशोक अर्गल टिकट न मिलने से नाराज
इसी तरह भिंड संसदीय क्षेत्र के पूर्व सांसद अशोक अर्गल ने टिकट न मिलने पर नाराजगी जाहिर की है. बीजेपी ने यहां से संध्या राय को उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, अर्गल कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के संपर्क में हैं, सिंधिया से उनकी बुधवार को मुलाकात भी हो चुकी है. अर्गल कांग्रेस में जाने का मन बना चुके हैं, साथ ही वे भिंड से कांग्रेस का टिकट चाहते हैं. 

 

इसी तरह मुरैना संसदीय क्षेत्र के सांसद अनूप मिश्रा टिकट कटने से नाराज चल रहे हैं. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे मिश्रा को बीजेपी मनाने की केाशिश में लगी हुई है और उन्हें ग्वालियर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी का उम्मीदवार बनाए जाने के आसार हैं. मिश्रा का टिकट काटकर मुरैना से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को उम्मीदवार बनाया गया है. 

वहीं, टीकमगढ़ संसदीय क्षेत्र से वर्तमान सांसद और भारतीय जनता पार्टी द्वारा उम्मीदवार बनाए गए मंत्री वीरेंद्र खटीक का स्थानीय नेता विरोध कर रहे हैं. पूर्व विधायक आरडी प्रजापति ने बुधवार को बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर उम्मीदवार में बदलाव की मांग की. प्रजापति का कहना है कि अगर उम्मीदवार नहीं बदला गया तो बीजेपी को हार का सामना करना पड़ेगा.