close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर संसदीय क्षेत्र: एक बार कांग्रेस तो दूसरी बार BJP को मिली जीत, अबकी बार किसके सिर होगा जीत का सेहरा

लोकसभा चुनाव 2019 में यहां एक बार फिर बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है. इस बार इस संसदीय सीट से कुल सात प्रत्‍याशी चुनावी मैदान में हैं. जिसमें बीजेपी से अजय भट्ट, कांग्रेस के हरीश रावत, बसपा के नवनीत अग्रवाल, सीपीआई माले के डॉ. कैलाश पांडे शामिल हैं. 

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर संसदीय क्षेत्र: एक बार कांग्रेस तो दूसरी बार BJP को मिली जीत, अबकी बार किसके सिर होगा जीत का सेहरा
2014 के लोकसभा चुनाव में 10305 मतदाताओं ने किसी भी उम्‍मीदवार को वोट देने की जगह नोटा का विकल्‍प चुना था.

नई दिल्‍ली: उत्‍तराखंड की नैनीताल-ऊधमसिंह नगर संसदीय सीट 2009 में अस्तित्‍व में आई थी. इस संसदीय सीट के अंतर्गत कुल दो जिले आते हैं. जिसमें पहला नैनीताल और दूसरा ऊधमसिंह नगर है. वर्तमान समय में यहां से बीजेपी के भगत सिंह कोश्यारी सांसद है. वहीं लोकसभा चुनाव 2019 में यहां एक बार फिर बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है. इस बार इस संसदीय सीट से कुल सात प्रत्‍याशी चुनावी मैदान में हैं. जिसमें बीजेपी से अजय भट्ट, कांग्रेस के हरीश रावत, बसपा के नवनीत अग्रवाल, सीपीआई माले के डॉ. कैलाश पांडे शामिल हैं. इनके अलावा, चुनावी मैदान में चुनौती देने वालों में पीपी आर्या, ज्‍योति प्रसाद टम्‍टा और सुकुमार विश्‍वास का नाम भी शामिल है. 

एक बार कांग्रेस तो दूसरी बार बीजेपी को मिला प्रतिनिधित्‍व
2008 में परिसीमन के बाद नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिलों को मिलाकर नैनीताल-ऊधमसिंह नगर संसदीय क्षेत्र का गठन किया गया. इस संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत कुल 14 विधानसभाएं आती हैं. जिसमें नैनीताल जिले की भीमताल, हल्‍द्वानी, कालाढूंगी, लालकुआं, नैनीताल और उधमसिंह नगर जिले की बाजपुर, गदरपुर, जशपुर, काशीपुर, खटीमा, किच्छा, नानकमत्ता, रुद्रपुर और सितारगंज सीट आती हैं. 2009 में हुए नैनीताल-ऊधमसिंह नगर संसदीय क्षेत्र के पहले लोकसभा चुनाव में मतदाताओं ने कांग्रेस के करण चंद्र सिंह बाबा को अपना सांसद बनाकर संसद में भेजा. 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में जनता ने अपना प्रतिनिधित्‍व कांग्रेस के हाथों से लेकर बीजेपी को सौंप दिया. इस चुनाव में बीजेपी के भगत सिंह कोश्यारी को जीत हासिल हुई थी.

यह भी पढ़ें: हरिद्वार संसदीय क्षेत्र: हर‍ि की नगरी में आसान नहीं रही बीजेपी और कांग्रेस की चुनावी राह

यह भी पढ़ें: गढ़वाल संसदीय क्षेत्र: 2 दशकों से है BJP का मजबूत गढ़, इस बार फंसी हैं चुनावी बाजी

कोश्‍यारी ने 2.83 लाख वोटों के अंतर से जीता था चुनाव
2014 के लोकसभा चुनाव में नैनीताल - ऊधमसिंह नगर संसदीय सीट से बीजेपी के भगत सिंह कोश्‍यारी ने 2.83 लाख से अधिक वोटो से चुनाव जीता था. इस चुनाव में नैनीताल - ऊधमसिंह नगर संसदीय सीट से कुल 15 उम्‍मीदवार चुनावी मैदान में थे. जिसमें बीजेपी से भगत सिंह कोश्‍यारी, कांग्रेस के केसी सिंह बाबा और बीएसपी के एल अहमद भी शामिल थे. इन्‍हीं उम्‍मीदवारों में उत्‍तराखंड के सबसे कम उम्र के उम्‍मीदवार खश्ति सुयाल का नाम भी शामिल है. इस चुनाव में बीजेपी के भगत सिंह कोश्‍यारी को 6.36 लाख, कांग्रेस के केसी सिंह बाबा को 3.52 लाख और बीएसपी के एल अहमद को 59 हजार वोट मिले थे. इस चुनाव में 10305 मतदाताओं ने नोटा का इस्‍तेमाल किया था.

यह भी पढ़ें: अल्‍मोड़ा संसदीय क्षेत्र: 38 साल रहा कांग्रेस का कब्‍जा, अब है बीजेपी का मजबूत गढ़

नैनीताल ऊधमसिंह नगर लोकसभा क्षेत्र से कब-कब कौन रहा सांसद

लोकसभा (अवधि)  सांसद का नाम राजनैतिक दल
2004-2014 करण चन्द सिंह बाबा कांग्रेस
2014-2019 भगत सिंह कोश्यारी भाजपा