PAK को करारा जवाब देने के लिए कांग्रेस क्यों नहीं कर सकती PM मोदी की तारीफ: राजनाथ

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1971 में जब पाकिस्तान को धूल चटाई थी, तब अटलजी ने विपक्ष में होने के बावजूद संसद में उनकी सराहना की थी.

PAK को करारा जवाब देने के लिए कांग्रेस क्यों नहीं कर सकती PM मोदी की तारीफ: राजनाथ
गृहमंत्री राजनाथ सिंह (फाइल फोटो)

सागर/दमोह: केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि ‘1971 की विजय की लिए जब हम (भाजपा) बड़प्पन का परिचय देते हुए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की सराहना’ कर सकते हैं तो पाकिस्तान को करार जवाब देने के लिये कांग्रेस प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा क्यों नहीं कर सकती.

राजनाथ सिंह ने दमोह, सागर और भिंड लोकसभा क्षेत्रों में चुनावी सभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1971 में जब पाकिस्तान को धूल चटाई थी, तब हमारे नेता अटलजी ने विपक्ष में होने के बावजूद संसद में इंदिरा गांधी की सराहना की थी.

'अटलजी ने बड़प्पन का परिचय दिया था'
राजनाथ ने कहा कि अटलजी ने बड़प्पन का परिचय दिया था, क्योंकि हम ऐसी पार्टी हैं जो सरकार बनाने के लिए राजनीति नहीं करती, बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करती है. 

उन्होने कहा,‘मैं कांग्रेस से पूछता हूं कि 1971 की विजय के लिए जब इंदिरा गांधी की जय-जयकार हो सकती है, तो पाकिस्तान को करारा जवाब देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जयकार क्यों नहीं हो सकती.’

राजनाथ सिंह ने साधा कांग्रेस पर निशाना
राजनाथ ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि हमारी सरकार को आपने आगे चलने का अवसर दिया, तो अगले पांच वर्षों के भीतर एक भी परिवार ऐसा नहीं रहेगा, जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करता हो. राजनाथ ने कांग्रेस पर लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस दिन भारत कांग्रेस मुक्त होगा, उसी दिन गरीब मुक्त भी हो जाएगा.

गृहमंत्री ने कहा कि देश की सुरक्षा में लगे जवान बहादुर है. जनता के मन में उनके प्रति सम्मान का भाव है. उनकी हौसला अफजाई करने की बजाए विपक्षी दल उनके पराक्रम के सबूत मांग रहे हैं, जो निदंनीय है.  उन्होंने कहा कि हमारे बहादुर जवान लाशें गिनने का काम नहीं करते, वे तो सिर्फ दुश्मनों को रौंदते हुए आगे बढ़ने का काम करते हैं.