RJD ने औकात बता दी, तब कांग्रेस को गरीबों की याद आई : सुशील मोदी

मोदी ने कहा कि नरेंद्र मोदी की वर्तमान सरकार विभिन्न योजनाओं के अनुदान के तौर पर देश के गरीबों को 5.34 लाख करोड़ रुपये प्रति वर्ष दे रही है. 

RJD ने औकात बता दी, तब कांग्रेस को गरीबों की याद आई : सुशील मोदी
बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता सुशील कुमार मोदी ने यहां मंगलवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने जब बिहार में कांग्रेस को मात्र नौ सीट देकर औकात बता रही है तो उसे गरीबों की याद सताने लगी है. मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस ऐलान पर कि केंद्र की सत्ता में आने पर कांग्रेस देश के 20 फीसदी गरीब परिवारों को न्यूनतम आय योजना के तहत 72 हजार रुपये सालाना देगी, पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1971 में 'गरीबी हटाओ' का नारा दिया था. उसके 48 वर्षों के बाद उसी पुराने नारे को दुहराकर राहुल गांधी देश की जनता की आंखों में धूल झोंकना चाह रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि राजीव गांधी से लेकर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) को 10 वर्षो तक चली सरकार को कभी गरीबी हटाओ की याद नहीं आई और अब जब लोकसभा की 44 सीटों तक सिमटी कांग्रेस को उत्तर प्रदेश से लेकर बंगाल तक कोई साथ नहीं रखना चाहता है, तो उसे 'गरीबों' की याद सताने लगी है.

मोदी ने कहा कि नरेंद्र मोदी की वर्तमान सरकार विभिन्न योजनाओं के अनुदान के तौर पर देश के गरीबों को 5.34 लाख करोड़ रुपये प्रति वर्ष दे रही है. 

उन्होंने कहा, "भारत सरकार के 55 मंत्रालयों की विभिन्न योजनाओं के तहत 1.8 लाख करोड़, खाद्य अनुदान के तौर पर 1.84 लाख करोड़, उर्वरक अनुदान और प्रधानमंत्री किसान सम्मान के तहत 75-75 हजार करोड़ तथा दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत के तहत 50 करोड़ लोगों को 20 हजार करोड़ का अनुदान यानी कुल 5़ 34 लाख करोड़ का लाभ मिल रहा है."

कांग्रेस के तीन राज्यों में किसानों की कर्जमाफी के वादे को पूरी तरह असफल बताते हुए मोदी ने कहा कि देश के गरीब और किसान अब झूठे वादे का सपना दिखाने वाली कांग्रेस पर भरोसा करने वाले नहीं हैं. उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि नरेंद्र मोदी के उन वादों का क्या हुआ जो वर्ष 2014 के आम चुनाव के दौरान उन्होंने किए थे और गुजरे पांच साल में किन लोगों के अच्छे दिन आए.