close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनावी माहौल में दक्षिण भारत के लिए केवल एक ही रणनीति नहीं हो सकती : मुरलीधर राव

राव ने कहा, ‘‘ हमारा प्रयास है कि पार्टी की विचारधारा और राजनीतिक संवाद को दक्षिण भारत के परिवेश एवं परिदृश्य के अनुरूप पेश किया जाए.

चुनावी माहौल में दक्षिण भारत के लिए केवल एक ही रणनीति नहीं हो सकती : मुरलीधर राव
तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सीटें हैं. भाजपा ने यहां अन्नाद्रमुक, एमडीएमके समेत छोटे छोटे दलों के साथ गठबंधन किया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में दक्षिण भारत में ‘‘प्रभावी प्रदर्शन’’ का दावा करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि पार्टी ने विचारधारा और राजनीतिक संवाद को इस क्षेत्र के परिवेश के अनुरूप स्वीकार्य रूप में पेश करते हुए स्वयं को ‘‘प्रभावी तीसरे विकल्प’’ के रूप में स्थापित किया है. मुरलीधर राव ने ‘‘भाषा’’ से खास बातचीत में कहा, ‘‘ दक्षिण भारत की राजनीतिक स्थिति उप्र, बिहार जैसी नहीं है. अलग - अलग बोलियां हैं और ऐसा समाज है जो हजारों वर्षो से राजनैतिक, सांस्कृतिक, भाषायी रूप से विकसित एवं समृद्ध हुआ है. ’’ उन्होंने कहा कि ऐसे में दक्षिण भारत के लिए कोई एक रणनीति नहीं हो सकती. हमने अलग रणनीति के जरिए लोगों तक पहुंचने, प्रभाव एवं स्वीकार्यता बढ़ाने के प्रयास किए हैं.

आतंकी मसूद अजहर को 'साहब' कहने पर RJD नेता मनोज झा बोले- 'यह इतनी बड़ी गलती नहीं'

भाजपा महासचिव ने कहा, ‘‘दक्षिण भारत में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन :राजग: अच्छी स्थिति में होगा. कर्नाटक में भाजपा अच्छी तरह स्थापित हो चुकी है जबकि केरल, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में वह तीसरे विकल्प के रूप में सामने आई है. ’’ उन्होंने तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक एवं अन्य दलों के साथ गठबंधन की वजह से भाजपा के अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई. राव ने कहा, ‘‘ हमारा प्रयास है कि पार्टी की विचारधारा और राजनीतिक संवाद को दक्षिण भारत के परिवेश एवं परिदृश्य के अनुरूप पेश किया जाए. इसमें पार्टी सफल भी हो रही है. ’’ 

लोकसभा चुनाव 2019: उन्नाव कभी था कांग्रेस का गढ़, 2014 की जीत को क्या कायम रख पाएगी BJP!

उन्होंने कहा कि दक्षिण भारत के बड़े हिस्से में दशकों से क्षेत्रीय दलों की सरकारें रहीं और राष्ट्रीय दल के रूप में कांग्रेस हाशिये पर चली गई है. तमिलनाडु में गुटों में बंटी अन्नाद्रमुक के साथ गठबंधन से भाजपा को कितना फायदा होगा, इस पर मुरलीधर ने कहा कि अन्नाद्रमुक एकजुट है, राज्य में बड़ी ताकत है और हमारे गठबंधन में एमडीएमके समेत कई दल हैं जिसका निश्चित तौर पर लाभ मिलेगा. 

तेलंगानाः विश्वेश्वर रेड्डी ने की जातिगत राजनीति और बिरयानी के 'बदले' स्वाद पर चर्चा

तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सीटें हैं. भाजपा ने यहां अन्नाद्रमुक, एमडीएमके समेत छोटे छोटे दलों के साथ गठबंधन किया है. केरल में बेहतर प्रदर्शन के लिए पूरा जोर लगा रही भाजपा ने भारत धर्म जन सेना :बीडीजेएस: और केरल कांग्रेस के साथ समझौता किया है. इसके तहत राज्य में भाजपा 14 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा कर रही है जबकि बीडीजेएस पांच सीटों पर एवं केरल कांग्रेस एक सीट पर उम्मीदवार खड़ा कर रही है.

EVM-वीवीपैट पर विपक्षी पार्टियों ने डाली थी याचिका, कल फिर होगी SC में सुनवाई

आंध्रप्रदेश में भाजपा अकेले चुनाव लड़ रही है जहां लोकसभा की 25 सीटें हैं . भाजपा वहां 10 सीटों पर खास ध्यान केंद्रित कर रही है. लोकसभा चुनाव में भाजपा की बड़ी जीत का दावा करते हुए मुरलीधर ने कहा कि विपक्षी गठबंधन का एकमात्र एजेंडा ‘मोदी हटाओ’ है और आगामी चुनाव में लोग इसे नकार देंगे. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुरलीधर राव ने कहा कि कांग्रेस पहले ‘‘2जी’’ पार्टी थी जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी थे और अब वह ‘‘3जी’’ पार्टी हो गई है जिसमें सोनिया और राहुल के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा का नाम जुड़ गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि परिवारवाद को आगे बढ़ाने की कांग्रेस की परंपरा स्पष्ट रूप से सामने आ रही है. धोखाधड़ी के एक मामले में हैदराबाद में अपने खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज होने के बारे में पूछे जाने पर राव ने कहा कि यह राजनीतिक षड्यंत्र के तहत किया गया है .

(इनपुट भाषा)