close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

#ZeeMahaExitPoll: यूपी में बीजेपी को बड़ा नुकसान, ABP-NEILSON सर्वे में गठबंधन को 56 सीटें

लोकसभा चुनाव 2019 के चुनावी रण में सभी की नजरें उत्तर प्रदेश पर टिकी हुई हैं. ABP-NEILSON सर्वे में यूपी में बीजेपी को बड़ा नुकसान हो सकता है.

#ZeeMahaExitPoll: यूपी में बीजेपी को बड़ा नुकसान, ABP-NEILSON सर्वे में गठबंधन को 56 सीटें
ABP - NEILSON के सर्वे में यूपी में गठबंधन बाजी मार सकता है...

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के चुनावी रण में सभी की नजरें उत्तर प्रदेश पर टिकी हुई हैं. उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें हैं. अब दो न्यूज चैनल के सर्वे के नतीजों में यूपी की तस्वीर उलझती नजर आ रही है. ABP-NEILSON सर्वे में यूपी में बीजेपी को बड़ा नुकसान हो सकता है. गठबंधन को 56 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है. बीजेपी को 22 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है. ये सिर्फ अनुमान हैं, अंतिम परिणाम नहीं. मतों की गणना 23 मई को होगी. 

उधर, Times now - VMR का सर्वे बिल्कूल उलट तस्वीर पेश कर रहा है. Times now - VMR के सर्वे के मुताबिक, यूपी में बीजेपी को 58 सीट, महागठबंधन को 22 सीट , कांग्रेस को 2 सीटें मिल सकती हैं. 

उत्तर प्रदेश में 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने एकतरफा जीत हासिल करते हुए 74 सीटों पर परचम फहराया था. क्या इस बार भी पीएम मोदी का जादू चल पाएगा? इसका जवाब थोड़ी देर में एग्जिट में आने वाले नतीजों में देखने को मिल सकता है. उत्तर प्रदेश में बीजेपी और महागठबंधन के बीच कांटे का मुकाबला होने की उम्मीद है. 

लोकसभा चुनाव में कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है. महागठबंधन के खेमे की बात करें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ़ से चुनाव मैदान में है. उनके सामने बीजेपी की ओर से भोजपुरी अभिनेता दिनेश लाय यादव उर्फ निरहुआ से है. राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष अजित सिंह मुजफ्फरनगर से किस्मत आजमा रहे हैं. उनका मुकाबला पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान से है. दोनों ही जाट प्रत्याशी हैं. अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी बागपत से चुनाव लड़ रहे हैं. बागपत आरएलडी का गढ़ माना जाता है. जयंत का मुकाबला केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह से है. जयंत 2014 में मथुरा से हेमा मलिनी के सामने हार गए थे.

 

बीजेपी के बड़े चेहरे, जिनकी प्रतिष्ठा दांव पर
उत्तर प्रदेश से बीजेपी के कई बड़े चेहरों की प्रतिष्ठा दांव पर है. मोदी सरकार के कई मंत्री मैदान में हैं. गाजियाबाद से पूर्व सेना प्रमुख और विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह एक बार फिर बीजेपी की टिकट से इस सीट पर प्रत्याशी हैं. वीके सिंह का मुकाबला कांग्रेस की डॉली शर्मा और गठबंधन उम्मीदवार सुंरेश बंसल से है. 

मोदी कैबिनेट के एक और मंत्री महेश शर्मा इस बार गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) से मैदान में हैं. कांग्रेस ने अरविंद कुमार सिंह को जबकि सपा-बसपा-रालोद गठबंधन ने यहां बसपा के सतवीर को संयुक्त रूप से अपना उम्मीदवार बनाया है. इस संसदीय क्षेत्र से दो निर्दलीय सहित कुल 13 उम्मीदवार मैदान में हैं.