नरेंद्र मोदी से नाराज रामदेव ने धारण किया मौन व्रत!

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं आए जिसे लेकर सियासी अटकलें शुरू हो गई है।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं आए जिसे लेकर सियासी अटकलें शुरू हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक योग गुरु बाबा रामदेव अपनी पसंद के सांसदों को मंत्री बनवाना चाहते थे लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। शायद यही वजह उनकी नाराजगी का कारण बनी और वह शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए।
सूत्रों के मुताबिक यह कहा जा रहा है कि बाबा रामदेव ने मौन व्रत धारण कर लिया है। क्योंकि उन्हें मानसिक रूप से चोट पहुंची है। हालांकि रामदेव के करीबी और अहम सहयोगी आचार्य बालकृष्ण मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे थे। लेकिन इससे पहले पतंजलि योगपीठ ने कहा था कि बाबा रामदेव के दो दर्जन अनुयायी मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ । गौर हो कि बाबा रामदेव ने लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए प्रचार किया था। बताया जा रहा है कि रामदेव इस वक्त हरिद्वार के आश्रम में हैं और वह मौन व्रत धारण किए हुए हैं।
(एजेंसी इनपुट के साथ)