बछड़े का हुआ जन्म, तो शहरभर में लगे होर्डिंग्स, मनाया निकासन समारोह

इस कार्यक्रम में दर्जनों गांवों से लगभग दस हजार लोगों का भोज किया गया साथ ही जहां महिलाओं ने बछड़े के लिए सोहर गाए. वही, नौटंकी के प्रोग्राम में ढोल ताशे पर लोगों ने नाच भी किया.  

बछड़े का हुआ जन्म, तो शहरभर में लगे होर्डिंग्स, मनाया निकासन समारोह
16 जनवरी को गाय ने बछड़े को जन्म दिया था.

अमेठी, सतीश बरनवाल: राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में एक आदमी ने ऐसी पहल की है, जो सुनने में भले ही हास्यापद लगे लेकिन इस पहल की चर्चा चारों तरफ हो रही है. दरअसल, यहां के एक गांव में गाय ने बछड़े को जन्म दिया, तो उसके मालिक ने इसके लिए बाकयदा एक वृहद् जन्मोत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया. इस कार्यक्रम में दर्जनों गांवों से लगभग दस हजार लोगों का भोज किया गया साथ ही जहां महिलाओं ने बछड़े के लिए सोहर गाए. वही, नौटंकी के प्रोग्राम में ढोल ताशे पर लोगों ने नाच भी किया. 

दरअसल, अमेठी के चंदईपुर केरहने वाले विनोद सिंह को गायों से बेहद प्रेम है और इन्होंने दो गाय भा पाली है, जिसमें से एक ने बीती 16 जनवरी को एक बछड़े को जन्म दिया. बछड़े की ख़ुशी में विनोद सिंह और उसका पूरा परिवार झूम उठा. पूरे परिवार ने सहमति से एक वृहद् कार्यक्रम का प्लान किया और देखते-देखते ये कार्यक्रम इतना बड़ा हो गया कि इसकी चर्चा अमेठी में हर जगह होने लगी. 

इस कार्यक्रम में दर्जनों गांव के लगभग दस हजार लोग जुटे और कई दिनों से महिलाए सोहर गीत से इस कार्यक्रम को परम्परागत बनाने में जुट गई. खुशी के इस पल को यादगार बनाने के लिए नौटंकी भी बुलाई गई और ढोल-ताशों पर महिलाओ ने डांस भी किया.

कार्यक्रम को लेकर पूरे अमेठी में होर्डिंग्स लगाए गए हैं, जिसे देखकर लोग दूर-दूर से पहुंच रहे हैं. लोगों का मानना है कि अगर इस तरह सबकी सोच हो जाए, तो जानवरों के प्रति हो रहे अत्याचार पर अंकुश लग सकता है और इससे समाज में बड़ा बदलाव हो सकता है.