Philippines: इस देश में पति-पत्नी को नहीं है तलाक लेने की इजाजत

बदलते समय के साथ दुनियाभर के कपल्स में तलाक लेना बेहद आम हो चुका है. हालांकि, फिलीपींस (Philippines) एक ऐसा देश है, जहां का विचित्र कानून (Weird Law) लोगों को हैरान कर देता है. दरअसल, यहां पति-पत्नी को तलाक (Divorce) लेने की इजाजत नहीं है.

Philippines: इस देश में पति-पत्नी को नहीं है तलाक लेने की इजाजत
फाइल फोटो

नई दिल्ली: दुनियाभर के देशों में तलाक को लेकर अलग-अलग परंपराएं और कानून (Divorce Law) प्रचलित हैं. बीते कुछ सालों में बड़ी संख्या में तलाक (Divorce) के मामले सामने आए हैं. तलाक लेने के लिए लगभग हर देश में कानून बन गया है. लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां तलाक का कोई प्रावधान ही मौजूद नहीं है. यहां तलाक के लिए बिल तो बना लेकिन कानून (Divorce Law) नहीं.

‘तलाकशुदा कैथोलिक’ होना अपमानजनक

फिलीपींस (Philippines) इस दुनिया का इकलौता देश है, जहां तलाक (Divorce) लेने की कोई व्यवस्था नहीं है. दरअसल फिलीपींस कैथोलिक (Catholic) देशों के एक समूह का हिस्सा है. कैथोलिक चर्च (Catholic Church) की वजह से ही इस देश में तलाक का कोई प्रावधान नहीं है.

जब पोप फ्रांसिस (Pope Francis) साल 2015 में फिलीपींस (Philippines) गए थे, तब वहां के धर्मगुरुओं से अपील की थी कि जो लोग तलाक लेना चाहते हैं, उनके प्रति सहानुभूति का नजरिया रखना चाहिए. लेकिन फिलीपींस में ‘तलाकशुदा कैथोलिक’ होना अपमानजनक है.

यह भी पढ़ें- Weird Laws: कहीं Jogging पर रोक तो कहीं Jeans पहनने पर सजा, जानें 5 देशों के अजीबोगरीब कानून

फिलीपींस को अब इस बात का गर्व 

फिलीपींस के ईसाई धर्मगुरुओं ने पोप फ्रांसिस (Pope Francis) की इस अपील को अनसुना कर दिया था. उन्हें अब इस बात पर गर्व होता है कि दुनिया में फिलीपींस एकमात्र ऐसा देश है, जहां पर तलाक (Divorce) नहीं लिया जा सकता है. हालांकि फिलीपींस में तलाक को वैध बनाने वाला बिल पहले से है लेकिन राष्ट्रपति (President) बेनिनो एक्विनो के समर्थन के बिना इसे कानून नहीं बनाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- 65 साल की उम्र में मां बनी महिला, 80 वर्षीय पति ने बताई सारी बात

खत्म किया पहले का कानून

फिलीपींस पर करीब चार सदी तक स्पेन (Spain) का शासन रहा. इस दौरान वहां अधिकांश लोगों ने ईसाई धर्म (Christianity) अपना लिया था. साल 1898 में स्पेन-अमेरिका के बीच युद्ध हुआ और फिलीपींस पर अमेरिका (America) का शासन हो गया. इसके बाद तलाक के लिए एक कानून (Divorce Law) बनाया गया. हालांकि इसमें एक शर्त थी कि अगर पति-पत्नी में से कोई एडल्टरी (Adultery) करते पाया जाएगा, सिर्फ तभी तलाक लिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- Australia: यहां है Wild Sex का रिवाज, UNICEF ने जाहिर की चिंता

कई बार गुलाम रहा देश 

द्वितीय विश्वयुद्ध (World War 2) के समय जब फिलीपींस पर जापान (Japan) का कब्जा हुआ तो उस समय भी तलाक के लिए एक नया कानून (Divorce Law) बनाया गया. लेकिन जब साल 1944 में अमेरिका (America) ने फिलीपींस पर दोबारा शासन किया तो फिर से पुराना तलाक कानून (Divorce Law) ही लागू हो गया.

साल 1950 में जब फिलीपींस अमेरिका के कब्जे से आजाद हुआ तो चर्च के प्रभाव में तलाक का कानून वापस ले लिया गया. तभी से तलाक पर जो प्रतिबंध लगा, वह अब तक जारी है.

यह भी पढ़ें- Pakistan का सबसे अजीबोगरीब मामला, Gender Change करवाकर दो बहनें बनीं भाई

मुस्लिम के लिए अलग नियम 

गौरतलब है कि फिलीपींस में तलाक नहीं लेने का प्रतिबंध सिर्फ ईसाइयों पर है. यहां की 6 से 7 फीसदी मुस्लिम आबादी अपने पर्सनल लॉ (Muslim Personal Law) के मुताबिक तलाक ले सकती है. मुस्लिम समुदाय को अपने धार्मिक नियमों के अनुसार ऐसा करने की छूट दी गई है.

ऐसी अजब-गजब खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.