close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'जूता कांड' को छोड़िए, दुनिया के सबसे मजबूत जूते के बारे में जानिए

जूता फेंकने की घटनाओं की चर्चा करें तो यूपीए-2 के शासनकाल में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम पर भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में जूता फेंका गया था. उस वक्त भी सोशल मीडिया पर जूता को लेकर खासी चर्चा हुई थी. 

'जूता कांड' को छोड़िए, दुनिया के सबसे मजबूत जूते के बारे में जानिए

नई दिल्ली: बीजेपी मुख्यालय में चल रही प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुरुवार (18 अप्रैल) को एक शख्स ने पार्टी प्रवक्ता के मंच की ओर जूता फेंक दिया. जूता फेंकने वाले शख्स को सुरक्षाकर्मियों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया है. इस घटना ने एक बार फिर भारतीय राजनीति में जूता मारने वाली घटनाओं को ताजा कर दिया है. कुछ दिन पहले ही यूपी में सांसद और विधायक के बीच जमकर जूता चला था. उस दौरान सोशल मीडिया पर जूते को लेकर जमकर चर्चा हुई थी. आज फिर सोशल मीडिया पर जूता कांड चर्चा का विषय बना हुआ है. इस सबके बीच हम आपको जूते से जुड़ी एक अलग कहानी बताते हैं. क्या आपको पता है कि दुनिया का सबसे मजबूत जूता कौन सा है?

अगर आपको नहीं पता तो हम आपको आज एक ऐसे जूते के बारे में बता रहे हैं जो दुनिया में सबसे मजबूत है. यदि आप भी नियमित तौर पर जॉगिंग करते हैं तो यह जूता आपको जरूर पसंद आएगा.

सबसे पतले मैटेरियल ग्राफीन तैयार किया गया
इस जूता को दुनिया के सबसे पतले मैटेरियल ग्राफीन से तैयार किया गया है. देखने में पतला लगने वाले ग्राफीन की मजबूती जबरदस्त होती है. यह स्टील से 200 गुना ज्यादा मजबूत और टिकाऊ होता है. ग्राफीन से तैयार किया जूता नॉर्मल या रबर वाले जूते से 50 प्रतिशत लंबा होता है. आप इसे पहनकर आराम से 300 मील तक का सफर तय कर सकते हैं.

graphene shoes, Shoe, Shoe Throwing, जूताकांड

कीमत करीब 14 हजार रुपये
इसे तैयार करने वाले वैज्ञानिकों का दावा है कि यदि आप ग्राफीन से बने जूते को बुरी तरह भी यूज करते हैं तो भी इसे आपको तीन महीने से पहले बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी. ग्राफीन से बने जूत को अच्छी ग्रिप के लिए जाना जाता है. इसे आमतौर पर ट्रेनर इस्तेमाल करते हैं. ट्रेनर्स के बीच यह अपनी मजबूती के कारण काफी लोकप्रिय है. इस सबके बाद आप इसकी कीमत के बारे में भी जानना चाहेंगे. ग्राफीन से बने जूते की कीमत 200 अमेरिकी डॉलर (करीब 14 हजार रुपये) में मिलता है.

मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी में नैनोमैटेरियल्स के रीडर डॉ. अरविंद विजयराघवन कहते हैं कि ग्राफीन काफी लचीला होता है. इससे बने जूते को बिना किसी नुकसान के फोल्ड किया जा सकता है. इतना ही नहीं ग्राफीन से बना जूता स्ट्रैच भी किया जा सकता है. वह कहते हैं कि हमारी अनोखी खोज ने इसे 50 प्रतिशत ज्यादा मजबूत बनाया है. यह पहनने में रबड़ के जूते के मुकाबले ज्यादा आरामदायक है. वैज्ञानिकों ने इससे पहले कपड़ों में ग्राफीन जोड़कर सबसे मजबूत 'छोटी काली पोशाक' बनाई थी.