• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    347बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    89कांग्रेस+

  • अन्य

    106अन्य

Video: मशीन से बातें करता है यह तोता, हैरान करने वाले हैं कारनामे

तोते का नाम स्नायपर है. स्नायपर अलेक्सा को गाने बजाने के लिए कहता है और उस पर झुमकर नाचता भी है. अलेक्सा और स्नायपर का एक अनोखा रिश्ता बन चुका है. 

Video: मशीन से बातें करता है यह तोता, हैरान करने वाले हैं कारनामे
अफ्रिकन ग्रे पेरोट तोते की महंगी प्रजाती है. शौकिन लोग ही ऐसे ग्रे तोते पालते है.

प्रशांत अंकुशराव, मुंबई : तोते को बोलते हुए आपने बहुत देखा होगा. लेकिन मुंबई में एक तोता ऐसा भी है जो टेक्नॉलॉजी से खेलता है. तोते का नाम स्नायपर है. यह अफ्रिकन तोता है. अलेक्सा वर्च्युअल टेक्नॉलॉजी से वह अपने मालिक के साथ ऐसी बातें करता है की मानो अलेक्सा उसकी दोस्त हो. स्नायपर अलेक्सा को गाने बजाने के लिए कहता है और उस पर झुमकर नाचता भी है. अलेक्सा और स्नायपर का एक अनोखा रिश्ता बन चुका है. 

मालिक की कॉपी कर सीखा गुण
इंसान ने अलेक्सा की खोज अपनी सहुलियत के लिए की थी. लेकिन मुंबई के चांदिवली इलाके का यह स्नायपर नाम का तोता अलेक्सा के प्यार में पागल हो गया है. स्नायपर को अलेक्सा के साथ दिन भर बातें करते रहता है. उसे ऑर्डर देते रहता है. मालिक शिजीन फ्रान्सिस और पत्नी लिली अलेक्सा को जो ऑर्डर देते थे वह स्नायपर ने इस तरह से पकड़ा की अब वह भी अलेक्सा को ऑर्डर देता है. 

साढ़े तीन साल का यह तोता
शिजीन फ्रान्सिस ने बताया की स्नायपर अलेक्सा के साथ बात कर सकता है. फ्रान्सिस ने कहां की आज स्नायपर की उम्र साढ़े तीन साल है. जब हमने उसे लिया था तो वह सिर्फ तीन महिने का था. उसके बाद लगभग 2 सालों तक वह कुछ बोला नही. लेकिन उसके बाद जबसे स्नायपर ने बोलना शुरु किया है तब से वह हर बात कहने लगा है. कुछ दिनों पहले जब अलेक्सा लिया गया तब मैं और मेरी पत्नी को फॉलो करने लगा और फिर उससे बातें करना लगा.

दंपत्ति के लिए बच्चे की तरह हैं तोता
शिजीन और लिली इस दंपत्ति के लिए तो स्नायपर किसी बच्चे से कम नहीं. शिजीन नें कहां की वह अब फैमिली का हिस्सा बन चुका है. हमारे बच्चे जैसे है. अब उसे कोई जानवर या पक्षी कहकर बुलाता है तो उन्हें गुस्सा आ जाता है. 

बता दें कि अफ्रिकन ग्रे पेरोट तोते की महंगी प्रजाती है. शौकिन लोग ही ऐसे ग्रे तोते पालते है. स्नायपर के मालिक ऐसे ही शौकीन लोगों में आते है. जिन्होने सिर्फ स्नायपर को शब्द दिए लेकिन तकनीक के साथ खेलने को भी सिखाया. और स्नायपर ने भी उसे तुरंत अपना लिया. अब स्नायपर और अलेक्सा की अलग दुनिया है. वह एक दुसरे से बातें करते रहते है.