close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Air Stirke: पाकिस्तान में बालाकोट शहर के लोग बोले, 'हमें लगा जलजला आ गया है'

पाकिस्तान के उत्तर पश्चिम क्षेत्र के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में स्थित बालाकोट शहर के लोगों ने कहा कि उनकी और उनके परिवार की आंख देर रात तीन बजे एक बड़े धमाके की आवाज से खुली.

Air Stirke: पाकिस्तान में बालाकोट शहर के लोग बोले, 'हमें लगा जलजला आ गया है'
(प्रतीकात्मक फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के भूकंप के जोखिम वाले बालाकोट शहर के निवासियों ने मंगलवार को कहा कि जब भारतीय वायुसेना के विमान आतंकी अड्डों को तबाह कर रहे थे तो उनकी नींद ‘बड़े धमाके की आवाज’ से खुली और वह समझे के क्षेत्र में ज़लज़ला आया है.

बालाकोट पाकिस्तान के उत्तर पश्चिम क्षेत्र के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में स्थित है. 2005 में कश्मीर में आए भूकंप के कारण यह तबाह हो गया था और सऊदी अरब की सहायता से इसे फिर से बनाया गया है.

पहाड़ी शहर के निवासियों ने बीबीसी उर्दू से कहा कि उनकी आंख तेज धमाकों की आवाज से खुली. बालाकोट के पास के कई शहरों के निवासियों ने कहा कि उन्होंने मंगलवार को धमाकों की आवाज सुनी.

जाबा गांव में किसान मोहम्मद आदिल ने बताया कि उनकी और उनके परिवार की आंख देर रात तीन बजे एक बड़े धमाके की आवाज से खुली. उन्होंने बताया कि उन्हें लगा कि क्षेत्र में भूकंप आया है. आदिल के मुताबिक, ‘ फिर हमें विमानों की उड़ने की आवाज आई. हम स्थान पर सुबह गए. वहां एक बड़ा गड्ढा था और चार-पांच घर तबाह हो गए थे.’

मंगलवार तड़के की भारत ने एयर स्ट्राइक 
बता दें भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने पर बड़ा एकतरफा हमला किया जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए . 

विदेश सचिव ने बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के बालाकोट में मौजूद सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर खुफिया सूचनाओं के बाद की गई यह कार्रवाई जरूरी थी क्योंकि आतंकी संगठन भारत में और आत्मघाती हमले करने की साजिश रच रहा था.

गौरतलब है कि 12 दिन पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए आत्मघाती हमले में बल के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी.

विदेश सचिव ने बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में और आत्मघाती आतंकी हमले करने की साजिश रच रहा है. इसके लिए फिदायीन जिहादियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. गोखले ने कहा कि आसन्न खतरे को देखते हुए, एकतरफा कार्रवाई 'अत्यंत आवश्यक'  थी .

(इनपुट - भाषा)