close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत और पाकिस्तान को आगे बढ़ने के लिए बातचीत ही एक एकमात्र रास्ता: महमूद कुरैशी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि दोनो देशों को ‘एक शांतिपूर्ण वातावरण के लिए प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता है

भारत और पाकिस्तान को आगे बढ़ने के लिए बातचीत ही एक एकमात्र रास्ता: महमूद कुरैशी
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बुधवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के लिए आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता बातचीत है और रेखांकित किया कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र में रणनीतिक स्थिरता की जिम्मेदारी बड़े देशों की है .

दक्षिण एशिया में रणनीतिक स्थिरता विषय पर आयोजित एक राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कुरैशी ने कहा कि हाल की घटनाएं ‘बड़ी जिम्मेदारी की याद दिलाती’’ है कि पाकिस्तान और भारत दोनों को क्षेत्र में रणनीतिक स्थिरता के लिए ‘अंतर्निहित चुनौतियों’ का समाधान करने की दिशा में काम करना है . 

'शांतिपूर्ण वातावरण के लिए प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता'
कुरैशी ने कहा कि दोनो देशों को ‘एक शांतिपूर्ण वातावरण के लिए प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता है जो सामाजिक-आर्थिक विकास और लोगों के कल्याण के लिए अनुकूल हो.’

कुरैशी ने कहा कि दक्षिण एशियाई सुरक्षा वातावरण एक ‘प्रवाह की स्थिति’ में है और पाकिस्तान को उम्मीद है कि बाहरी देश इस क्षेत्र को हथियारों की आपूर्ति के मामले में अपनी जिम्मेदारी के प्रति सावधान रहेंगे.

पुलवामा हमले के बाद बढ़ा है दोनों देशों के तनाव
भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव उस वक्त बढ़ गया जब जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर दिया जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गए. 

बढ़ते आक्रोश के बीच, भारतीय वायुसेना ने आतंकवाद-रोधी अभियान को अंजाम देते हुए 26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर बलाकोट में स्थित जैश के सबसे बड़े आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को ध्वस्त कर दिया. इसके दूसरे दिन पाकिस्तान वायुसेना ने जवाबी कार्रवाई की और एक मिग -21 को मार गिराया उसके पायलट को पकड़ लिया था जिसे एक मार्च को भारत को वापस कर दिया गया .