जावड़ेकर का पलटवार, 'झूठ ऑफ द ईयर' के पात्र हैं राहुल गांधी, पूरी कांग्रेस उनसे परेशान है

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पहले राहुल के बयानों से परिवार परेशान था, अब जनता और पूरी कांग्रेस परेशान है.

जावड़ेकर का पलटवार, 'झूठ ऑफ द ईयर' के पात्र हैं राहुल गांधी, पूरी कांग्रेस उनसे परेशान है
बीजेपी नेता ने कहा कि आज मोदी जी 100 रुपये भेजते हैं तो गरीबों को 100 रुपये मिलते हैं.

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को झूठा बताया. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष थे तब भी और अब नहीं हैं तब भी झूठ बोलते हैं और लगातार झूठ बोलते हैं. उन्होंने कहा कि वह '2019 के झूठ ऑफ द ईयर' के पात्र हैं. जावड़ेकर ने कहा कि पहले राहुल के बयानों से परिवार परेशान था, अब जनता और पूरी कांग्रेस परेशान है. उन्होंने कहा कि आज राहुल एनपीआर को गरीब पर टैक्स बता रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, "एनपीआर तो जनसंख्या रजिस्टर है, लोग जो जानकारी देते हैं उसे इसमें इकट्ठा करके रखते हैं. इसमें टैक्स कहां से आया. टैक्स कांग्रेस का कल्चर है -जयंती टैक्स, कोयला टैक्स, 2जी टैक्स, जीजा जी टैक्स."

120 करोड़ भारतीयों को आधार दिया
जावड़ेकर ने कहा, "भ्रष्टाचार कांग्रेस का एकमात्र आधार है. जिससे भ्रष्टाचार खत्म होता है, कांग्रेस उसका विरोध करती है. एनपीआर से गरीब की पहचान होती है. 2010 में जो हुआ, वही 2020 में होने जा रहा है. एनपीआर और आधार दोनों लाभार्थियों के लिए हैं. मोदी सरकार ने 120 करोड़ भारतीयों को आधार दिया. नौ लाख करोड़ रुपये सीधे गरीबों के खाते में गए. दो लाख करोड़ रुपये की बचत हुई है. राजीव गांधी कहते थे कि सौ रुपये भेजता हूं तो 15 रुपये मिलते हैं. तब कांग्रेस की ही केंद्र से लेकर राज्यों में सरकारें थीं."

झूठ फैलाना इनका कल्चर
बीजेपी नेता ने कहा कि आज मोदी जी 100 रुपये भेजते हैं तो गरीबों को 100 रुपये मिलते हैं. उन्होंने कहा, "अफवाहें फैलाना, झूठ फैलाना इनका कल्चर है. महात्मा गांधी वाली कांग्रेस से आज के गांधियों की कांग्रेस अलग है. कांग्रेस से हम पूछना चाहते हैं कि कांग्रेस का कल्चर क्या है."

(इनपुट-आईएएनएस)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.