प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संन्यास लेने पर मैं भी छोड़ दूंगी राजनीति: स्मृति ईरानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस दिन राजनीति से संन्यास लेंगे, उस दिन वह भी राजनीति को अलविदा कह देंगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संन्यास लेने पर मैं भी छोड़ दूंगी राजनीति: स्मृति ईरानी
एक कार्यक्रम में स्मृति ईरानी ने कहा कि मोदी अभी कई बरस तक राजनीति में रहेंगे. (फाइल फोटो)

पुणे: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस दिन राजनीति से संन्यास लेंगे, उस दिन वह भी राजनीति को अलविदा कह देंगी. हालांकि, स्मृति ने कहा कि मोदी अभी कई बरस तक राजनीति में रहेंगे.

उन्होंने ‘वर्ड्स काउंट महोत्सव’ में एक परिचर्चा के दौरान यह कहा. जब एक श्रोता ने उनसे पूछा कि वह कब ‘प्रधान सेवक’ बनेंगी. दरअसल, इस शब्द का इस्तेमाल मोदी खुद के लिए करते हैं.

केंद्रीय मंत्री ने इस पर जवाब दिया, ‘‘ कभी नहीं. मैं राजनीति में बेहतरीन नेताओं के साथ काम करने के लिए आई हूं और इस मामले में मैं बेहद सौभाग्यशाली रही हूं कि मैंने दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी जैसे दिग्गज नेता के नेतृत्व में काम किया और अब मोदी जी के साथ काम कर रही हूं.'

उन्होंने कहा, ‘‘ जिस दिन ‘प्रधान सेवक’ नरेंद्र मोदी राजनीति से संन्यास ले लेंगे, मैं भी भारतीय राजनीति को अलविदा कह दूंगी. '

कहा था आसान नहीं रहने वाला ये साल
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक कार्यक्रम में कुछ दिनों पहले कहा था कि  2019 कोई आसान साल नहीं होगा. हालांकि‍ अपनी बात को स्‍पष्‍ट करते हुए उन्‍होंने कहा था कि, वह इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हैं कि 2021 में वह भारतीय महिला विज्ञान कांग्रेस के उद्घाटन में हिस्सा ले पायेंगी. ‘भारतीय महिला विज्ञान कांग्रेस 2021’ के उद्घाटन कार्यक्रम के लिए स्मृति ईरानी को आमंत्रित किया गया है.  

स्मृति ईरानी ने कहा, 'मेरी 15 वर्षीय बेटी अपने 10वीं के बोर्ड (इम्तिहान) और मेरा बेटा जो 12वीं में है अपने बोर्ड की तैयारी कर रहा है. मेरा मतलब है कि 2019 हम में से किसी के लिए भी आसान नहीं है'

स्मृति ईरानी ने कहा कि 2020-21 के लिए भारतीय महिला विज्ञान कांग्रेस की नवनिर्वाचित अध्यक्ष विजय लक्ष्मी सक्सेना ने 2021 के सत्र के लिए उन्हें आमंत्रित किया है. उन्होंने कहा कि 'मैं नहीं जानती कि 2021 में मेरे होने की वैज्ञानिक संभावनाएं क्या हैं, इसके बावजूद मैं पूरे सम्मान और विनम्रता से उनके आमंत्रण को स्वीकार करती हूं.'

(इनपुट-भाषा)